अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस स्पेशल: क्रिकेट के मैदान से बाहर नारी शक्ति को सलाम

by GoNews Desk Mar 08, 2021 • 05:23 PM Views 1059

समय दर समय दुनिया के हर क्षेत्र में निरंतर बदलाव हो रहे हैं और उसमें ना सिर्फ पुरष बल्कि महिलाएं भी उतना ही योगदान दे रही हैं।

वैसे तो महिलाओं का वर्चस्व सिनेमा और व्यापार से लेकर और भी कई हिस्सों में देखने को मिल रहा है लेकिन उस वक्त ये खुशी और भी दुगनी हो जाती है जब हम उन्हें खेलों में बढ़-चढ़कर रूचि लेते हुए देखते है।

अगर बात भारत की करे तो इसमें कोई दो राय नहीं है कि यहां किसी अन्य खेल के अलावा कहीं ना कहीं क्रिकेट को लेकर सभी लोग ज्यादा ही उत्साहित रहते हैं। क्रिकेट के प्रति लोगों की दीवानगी में इजाफा और भी हुआ जब साल 2008 में दुनिया की सबसे लोकप्रीय टी-20 लीग यानी आईपीएल की शुरूआत हुई।

आईपीएल में ना सिर्फ हमनें खेल और खिलाड़ियों, मैच व उसके परिणाम, चौके और छक्कों की आतिशबाजी देखी बल्कि 8 टीमों के इस टूर्नामेंट में पहली बार इतने बड़े स्तर पर महिलाओं को टीमों की बागडोर संभालते हुए देखा लेकिन मैदान पर खेल में नहीं बल्कि मैदान के बाहर टीम संचालिका के रूप में।

आईपीएल इतिहास की सबसे कामयाब टीम मुंबई इंडियंस ने कुल 5 बार खिताब पर कब्जा किया और इस दौरान क्रिकेट फैंस ने लगभग हर मैच में टीम की मालकिन नीता अंबानी को स्टैंड में बैठकर टीम का उत्साह बढ़ाते हुए देखा होगा। मुंबई की टीम ने ना सिर्फ अपनी सीनियर टीम को चलाया है बल्कि साल 2019 में उन्होंने पहली बार एमआई जूनीयर टूर्नामेंट का आयोजन किया जहां करीब 50 स्कूल के बच्चों ने इसमें भाग लिया। इसके अलावा नीता अंबानी और उनके साथ काम करने वाले लोगों ने लगातार नई प्रतिभाओं को ढूंढने का काम किया है और भरसक कोशिश की है कि वो हर वर्ग के युवा खिलाड़ियों को निखारे और उन्हें उच्च स्तर के क्रिकेट के लिए तैयार करें।