ads

World Press Freedom Day : जानिए क्यों और कब से मनाया जा रहा विश्व प्रेस आजादी दिवस

by GoNews Desk May 03, 2021 • 08:48 PM Views 657

दुनियाभर में हर साल तीन मई को विश्व प्रेस आजादी दिवस मनाया जाता है। इस दिन ये बताया जाता है कि मीडिया का समाज में कितना अहम योगदान है। मीडिया की ताकत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि इसे लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है। आज हम आपको बताएंगे कि ये पहली बार कब मनाया गया और साथ ही विश्व रैंकिंग में भारत का कौनसा स्थान है।

बता दें कि साल 1991 में अफ्रीका के पत्रकारों ने प्रेस की आजादी के लिए मुहिम छेड़ी थी। इन पत्रकारों ने तीन मई को प्रेस की आजादी के सिद्धांतों को लेकर बयान जारी किया था जिसे डिक्लेरेशन ऑफ विंडहोक के नाम से भी जानते हैं। इसके ठीक दो साल बाद यानी साल 1993 में संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने पहली बार विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाने का फैसला किया था। उस दिन से लेकर आज तक हर साल तीन मई को विश्व प्रेस आजादी दिवस मनाया जाता है।

इसके पीछे कारण यह है कि दुनियाभर से आए दिन पत्रकारों पर हुए उत्पीड़न की खबरें आती रहती हैं। पत्रकारिता एक जोखिमभरा काम भी है। पत्रकारिता के दौरान पत्रकारों पर कई बार हमले भी कर दिए जाते हैं। फिर चाहे सऊदी अरब के जमाल खगोशी हों या फिर भारत की गौरी लंकेश। समय-समय पर पत्रकारों पर हमले या फिर उनकी हत्या की खबर सामने आ ही जाती है। ऐसे में पत्रकारों पर हो रहे उत्पीड़न और उनकी आवाज को अलग-अलग ताकतों द्वारा दबाया नहीं जाए इसीलिए भी विश्व प्रेस आजादी दिवस मनाया जाता है।