'वॉल स्ट्रीट जर्नल' का दावा- 'फेसबुक की नज़र में बजरंग दल साइट के लिए सुरक्षित, कार्रवाई से कंपनी के लिए ख़तरा'

by Siddharth Chaturvedi Dec 14, 2020 • 03:23 PM Views 834

फेसबुक की सुरक्षा टीम का हिन्दुवादी संगठन बजरंग दल पर अल्पसंख्यकों के ख़िलाफ़ हिंसक बयान और हिंसा का समर्थन करने के बावजूद प्रतिबंध लगाने का कोई इरादा नहीं है। फेसबुक ने संगठन को अपनी साइट के लिए सुरक्षित माना है। 'द वॉल स्ट्रीट जर्नल' ने रविवार को एक रिपोर्ट प्रकाशित की है जिसमें यह दावा किया गया है।

अख़बार ने लिखा है कि सत्तारुढ़ बीजेपी के साथ संबंधों की वजह से फेसबुक दक्षिणपंथी समूंह के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने से डरता है। अख़बार का कहना है कि फेसबुक इसलिए प्रतिबंधन नहीं लगा रहा है क्योंकि बजरंग दल पर नकेल कसने से भारत में कंपनी के लिए ख़तरा पैदा हो सकता है। साथ ही अख़बार ने ‘फेसबुक और बीजेपी के गठजोड़’ को लेकर अपनी पहले प्रकाशित रिपोर्ट का भी हवाला दिया है।

इसी साल अगस्त में वॉल स्ट्रीट जर्नल ने दावा किया था कि बीजेपी नेताओं के लिए फेसबुक अपनी नीतियों में ढिलाई करता है। रिपोर्ट में सत्तारुढ़ बीजेपी को फेसबुक के व्यापारिक हितों के पक्ष में बताया गया था। इसमें कहा गया था कि फेसबुक की एग़्ज़क्यूटिव रहीं अंखी दास ने मुस्लिम विरोधी कमेंट करने वाले भाजपा नेता टी. राजा सिंह का पक्ष लिया और उनकी पैरवी की।