नागालैंड में सेना की गोलीबारी में आम नागरिकों के मारे जाने के बाद अशांति

by GoNews Desk Dec 06, 2021 • 03:08 PM Views 305

नागालैंड मे शनिवार शाम को भारतीय सेना की ‘ओपन फायर’ घटना के बाद आज राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन है। घटना से गुस्साए अलग अलग क्षेत्रीय संगठनों ने आज राज्य में बंद बुलाया है। शनिवार को नागालैंड के मोन जिले में जवान समेत 15 लोगों की मौत हो गई थी हालांकि नागालैंड की एक ट्राइबल बॉडी का कहना है कि घटना में 17 लोग मारे गए हैं।

पुलिस अब तक 14 लोगों की मौत के बयान टिकी हुई है। नागालैंड हिंसा के बाद से एक बार फिर राज्य में लागू AFSPA को हटाने की मांग की जा रही है। इस कानून के तहत सुरक्षा बलों को विशेषाधिकार प्राप्त है। सुरक्षा जवान कानून तोड़ने वाले व्यक्ति पर सीधे फायरिंग कर सकते हैं।

नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो ने घटना पर कहा, “मैंने केंद्रीय गृह मंत्री से बात की है, वह मामले को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं। हमने प्रभावित परिवारों को आर्थिक मदद दी है। हम केंद्र सरकार से नागालैंड से AFSPA हटाने के लिए कह रहे हैं। इस कानून ने हमारे देश की छवि को काला कर दिया है।” 

हिंसा की शुरूआत शनिवार को ओटिंग में 6 लोगों की मौत से हुई जिसे शनिवार को सुरक्षा बलों ने एक प्रतिबंधित संगठन से जुड़े होने की ‘गलतफहमी’ के चलते गोली मार दी। घटना से गुस्साए गांव वासियों ने जवानों ने कथित तौर पर सुरक्षा बलों पर हमला किया जिसमें एक जवान मारा गया और इसके बाद सेना की तरफ से फायरिंग की गई जिसमें 7 और लोगों की मौत हो गई।