अशांत कश्मीर: पलायन कर रहे प्रवासी, पंडित; "सामान्य हालात" की निशानी ?

by GoNews Desk Oct 18, 2021 • 06:55 PM Views 444

कश्मीर घाटी में मानो एक बार फिर 1990 जैसे हालात पैदा हो गए हैं। बीते दिनों हुए हमले के बाद घाटी से प्रवासी मज़दूर पलायन करने लगे हैं। प्रवासियों का कहना है कि पिछले 35 साल में ऐसा नहीं हुआ, जैसा अब शुरु हो गया है। पिछले 15 दिनों में चरमपंथी हमलों में कम से कम दस लोग मारे गए हैं। 

इससे घाटी और जम्मू में रह रहे मूलनिवासियों में भी डर का माहौल है और ऐसे में कश्मीरी पंडितों का भी पलायन शुरु हो गया है। घाटी में उत्पन्न हुए यह तनावपूर्ण हालात केन्द्र के धारा 370 हटाए जाने के बाद किए गए दावों पर सवालिया निशान लगाता है। 

बिहार के तीन मज़दूरों की हत्या !

कश्मीर के कुलगाम में बीते रविवार को बिहार से आए दो प्रवासियों की चरमपंथियों ने हत्या कर दी है। चरमपंथी कुलगाम जिले के वानपोह में रह रहे तीन बिहार प्रवासियों के घर में घुसे और उन्हें गोली मार दी। इसमें दो लोगों की मौत हुई जबकि तीसरा शख्य किसी तरह अपनी जान बचा पाया। इससे पहले शनिवार को एक और बिहार के प्रवासी की श्रीनगर के ईदगाह में और उत्तर प्रदेश के एक मजदूर की पुलवामा में हत्या कर दी गई थी।