पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद के हिंदू-मुस्लिम एकता पर विचार !

by GoNews Desk Apr 29, 2022 • 04:43 PM Views 3878

वे पेशे से वकील थे. भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए और कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में प्रमुख भूमिका निभाई....1946 के चुनावों के बाद सरकार में खाद्य और कृषि मंत्री रहे... 1947 में स्वतंत्रता के बाद उन्हें भारतीय संविधान सभा के अध्यक्ष के रूप में चुना गया..... उन्होंने भारतीय संविधान के निर्माण में योगदान दिया .... वे भारत के प्रथम राष्ट्रपति चुने गये.... उनका नाम डॉ राजेन्द्र प्रसाद है  जिन्हें 1962 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया.... डॉ राजेन्द्र प्रसाद के 135 वे जन्मदिन पर देखिये कि  उन्होंने भारत में हिन्दू मुस्लिम एकता के बारे में क्या लिखा था।