भारत में गंभीर होती भुखमरी की हालत, हंगर इंडेक्स में पड़ोसी देशों से पिछड़ा भारत

by GoNews Desk Oct 18, 2021 • 05:41 PM Views 338

हाल ही में जारी ग्लोबल हंगर इंडेक्स से पता चला है कि भारत रैंकिंग में अपने पड़ोसी देशों से भी पिछड़ गया है। जहां पिछले साल भारत 107 देशों की रैंकिंग में 94वें स्थान पर रहा था वो अब 116 देशों की रैंकिंग में 101वें स्थान पर आ गया है। इसका मतलब है कि पिछले साल के मुक़ाबले भारत की रैंकिंग में दो अंकों की गिरावट आई है। पिछले साल भारत का हंगर स्कोर 27.2 था जो इस साल बढ़कर 27.5 हो गया है, यानि देश में भुखमरी की हालत और ज़्यादा गंभीर हो गई है।

2020 के आकलन में, ग्लोबल हंगर इंडेक्स रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत की 14 फीसदी आबादी कुपोषित है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि देश में 37.4 फीसदी बच्चों की स्टंटिंग दर दर्ज की गई है। बौने बच्चे वे होते हैं जिनकी "उम्र के हिसाब से लंबाई कम होती है, जो कुपोषण को दर्शाता हैं।”

2021 की नई रिपोर्ट में भारत को अपने पड़ोसियों, खासकर पाकिस्तान से नीचे रखा गया है। इस साल भी भारत का "गंभीर" श्रेणी में वर्गीकरण भारत की ग़रीबी और भूख़ की स्थिति के कई अन्य आकलनों के अनुरूप है, जो दुनिया में सबसे ख़राब स्थिति में है। भारत में 2014 से 2019 के बीच देश के 6.2 करोड़ लोग खाद्य संकट की चपेट में आ गए। यह जानकारी स्टेट ऑफ फूड सिक्योरिटी एंड न्यूट्रिशन इन द वर्ल्ड (SOFI) द्वारा दी गई थी।