महाराष्ट्र विधानसभा में पेश हुआ शक्ति बिल, रेप के दोषियो को फाँसी का प्रावधान

by Siddharth Chaturvedi Dec 14, 2020 • 08:06 PM Views 845

महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने कुछ दिनों पहले शक्ति बिल को मंजूरी दी थी। इसे आज विधानसभा के शीत कालीन सत्र में पेश किया गया। विधानमंडल के दोनों सदनों में पारित होने के बाद इस विधेयक को केंद्र सरकार के पास भेजा जाएगा। और केंद्र से मंजूरी मिलने के बाद ये कानून राज्‍य में लागू कर दिया जाएगा। इस बिल के अंतर्गत महिलाओं और बच्‍चों के ख़िलाफ़ यौन अपराधों पर कठिन सजा, यहाँ तक कि फाँसी तक का प्रावधान है।

महाराष्ट्र विधानसभा का दो दिवसीय शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो गया। हालांकि मंत्रिमंडल से बिल को मंजूरी मिलने के बाद से इस कानून पर अलग-अलग प्रतिक्रियाएँ आ रही हैं। कहीं लोग इसके समर्थन में है तो कई एक्टिविस्ट, वकील, सामाजिक और महिला संगठन इसका विरोध कर रहे हैं। इन संगठनों ने इसे गलत बताते हुए कहा है कि ये महिला विरोधी सोच के तहत है।

‘शक्ति कानून’ के नाम से जाने वाले इस बिल में यौन अपराधियों के लिए मृत्युदंड, आजीवन कारावास और भारी जुर्माना जैसी कड़ी सजा और मुकदमे की त्वरित सुनवाई शामिल है। इस कानून को राज्य में लागू करने के लिए विधेयक के मसौदे में भारतीय दंड संहिता, सीआरपीसी और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम की प्रासंगिक धाराओं में संशोधन करने का प्रस्ताव है।