डीज़ल के महंगा होने पर सीएनजी वेरिएंट की गाड़ियों की बिक्री बढ़ी

by GoNews Desk Jul 20, 2020 • 07:43 PM Views 244

डीज़ल के दामों में लगातार उछाल का असर ऑटोमोबाइल सेक्टर पर भी दिखने लगा है. दिल्ली में एक लीटर डीज़ल की क़ीमत 80 रुपए के पार पहुंचने के बाद अब छोटी और मिड सेगमेंट की गाड़ियों के ख़रीदार पेट्रोल या सीएनजी वाली गाड़ियों को ज्यादा पसंद कर रहे है.

ऐसे में ऑटोमोबाइल कंपनियां अब डीज़ल को छोड़कर सीएनजी गाड़ियों के प्रोडक्शन पर ज्यादा ध्यान दे रही हैं. देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुती सुजुकी बाजार में कम बजट वाले सेगमेंट की लीडर है.

मारुती अब अपने हैचबैक, सेडान और कुछ एसयूवी मॉडलों में डीज़ल मॉडल को बंद करने की तैयारी में है.आंकड़े बताते हैं कि ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के वित्त वर्ष 2019-20 में गाड़ियों की बिक्री में 18 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई जबकि इसी दौरान मारुती की डीज़ल गाड़ियों की बिक्री में 37 फीसदी की गिरावट दर्ज हुई. हालांकि यह गिरावट सीएनजी वेरिएंट में नहीं दिखी जहां 7 फीसदी इज़ाफ़े के साथ एक लाख छह हज़ार यूनिट्स ज्यादा बिकी. यह आंकड़े बताते हैं कि लोग अब डीजल से ज्यादा सीएनजी की गाड़ियां ख़रीद रहे हैं.

साल 2013 में जहां मारुती की 51 हज़ार से ज्यादा सीएनजी गाड़ियां बिकी थी, वहीं 2019 आते आते 76 हज़ार 600 से ज्यादा हो गई और इस साल रिकॉर्ड एक लाख छह हज़ार 443 सीएनजी कारें बिकी हैं.