ads

सिर्फ़ शादी के लिए धर्म परिवर्तन मंज़ूर नहीं-इलाहाबाद हाईकोर्ट

by GoNews Desk Oct 31, 2020 • 03:13 PM Views 123

शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन करने वालों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। इलाहाबाद हाईकोर्ट के एक फ़ैसले में कहा गया है कि सिर्फ विवाह के लिए किया गया धर्म परिवर्तन मंज़ूर नहीं किया जा सकता। ऐसे धर्म परिवर्तन का आधार आस्था नहीं होती, यह किसी अन्य उद्देश्य के तहत किया जाता है।

न्यायमूर्ति एम.सी.त्रिपाठी ने धर्म परिवर्तन करके शादी करने वाले एक जोड़े को संरक्षण देने से जुड़ी याचिका इसी आधार पर ख़ारिज कर दी।

दरअसल, इलाहाबाद की मुस्लिम लड़की सबरीन ने धर्म परिवर्तन करके हिंदू व्यक्ति से शादी कर ली थी। उसने अपना नाम भी प्रियांशी कर लिया था। उसने और उसके पति ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करके कहा था कि उन्होंने स्वेच्छा से विवाह किया है, लेकिन लड़की के पिता इससे ख़ुश नहीं हैं।