मोकामा-बरौनी सेक्शन में गंगा नदी के ऊपर बन रहा रेल ब्रिज पर्यावरण और जलजीवों के लिए ख़तरनाक

by M. Nuruddin Feb 18, 2021 • 01:43 AM Views 426

बिहार के मोकामा-बरौनी सेक्शन में रेलवे ब्रिज का काम ज़ोरों पर है। यहां गंगा नदी के ऊपर राजेंद्रसेतु पुल के समानांतर एक नए रेल ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। साल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिमोट कंट्रोल के ज़रिए इस ब्रिज के निर्माण कार्य को हरी झंडी दी थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ इस पुल को चार साल में बनकर तैयार होना था लेकिन अभी भी इस पुल का निर्माण कार्य जारी है।

राजेंद्रसेतु पुल साल 1959 में बनकर तैयार हुआ था और इसका उद्घाटन तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने की थी। यह बिहार में ऐसा पहला अनोखा पुल है जिसपर से गाड़ियों के साथ-साथ ट्रेनों की भी आवाजाही है। यह पुल दो किलोमीटर लंबा है और डबल लेन सड़क के साथ सिंगल ट्रैक रेलवे लाइन भी है।

इसी पुल की 25 मीटर की दूरी पर एक नए रेल ब्रिज का निर्माण किया जा रहा। यह रेल ब्रिज डबल लाइन का होगा। प्रोजेक्ट में देरी की वजह से इस ब्रिज का काम साल 2018 में शुरु किया गया था। तत्कालीन रेल मंत्री पीयूष गोयल ने तब इस ब्रिज के तीन साल में बनकर तैयार होने की बात कही थी। उन्होंने फरवरी 2021 तक इस ब्रिज के उद्घाटन की बात कही थी लेकिन अब यह ब्रिज कबतक बनकर तैयार होगा इसका कोई अनुमान नहीं है।