‘आंशिक रूप’ से स्वतंत्र भारत 'पत्रकारों के लिए ख़तरनाक'

by GoNews Desk Apr 23, 2021 • 04:32 AM Views 729

‘आंशिक रूप’ से स्वतंत्र भारत में प्रेस की स्वतंत्रता पर ख़तरा कम नहीं हुआ है। रिपोर्टर्स विदआउट बॉर्डर की ताज़ा रिपोर्ट में भारत प्रेस की स्वतंत्रता में 142वें स्थान पर बरक़रार है। इस लिस्ट में भारत अपने पड़ोसी मुल्कों के मुक़ाबले लगातार ख़राब प्रदर्शन कर रहा है। 180 देशों की लिस्ट में भारत उन देशों की श्रेणी में शामिल है जो स्वतंत्र पत्रकारिता के लिए ‘ख़राब’ माने जाते हैं। रिपोर्ट में ईमानदारी से काम करने वाले पत्रकारों के लिए भारत को एक ‘ख़तरनाक देश’ बताया गया है। 

रिपोर्ट में कहा गया है कि, ‘साल 2020 में अपने काम के सिलसिले में मारे गए चार पत्रकारों के साथ भारत पत्रकारों के लिए सबसे ख़तरनाक देशों में एक है। जो पत्रकार अपना काम ठीक तरीके से करने की कोशिश करते हैं उन्हें हर तरह के हमले का सामना करना पड़ता है। पत्रकारों के ख़िलाफ़ पुलिस हिंसा, राजनीतिक कार्कर्ताओं द्वारा घात और आपराधिक समूंहों या भ्रष्ट स्थानीय अधिकारियों द्वारा उक़साए गए विद्रोह शामिल हैं।’