आयुर्वेदिक डाक्टरों को सर्जरी का हक़ देने के ख़िलाफ़ 11 को एलोपैथिक डाक्टरों की देशव्यापी हड़ताल

by Siddharth Chaturvedi Dec 05, 2020 • 04:49 PM Views 990

इंडियन मेडिकल असोसिएशन (आईएमए) ने 11 दिसंबर को देशभर में हड़ताल की घोषणा की है। यह ऐलान आयुर्वेद के डॉक्टरों को सर्जरी की मंजूरी देने के फैसले के खिलाफ किया गया है। इस दौरान सभी गैर-जरूरी और गैर-कोविड सेवाएं बंद रहेंगीं। हालांकि, आईसीयू जैसी आपातकालीन सेवाएं जारी रहेंगी। लेकिन पहले से तय ऑपरेशन नहीं किए जाएंगे।इसके अलावा 8 दिसंबर को दो घंटे का सांकेतिक प्रदर्शन भी किया जायेगा।

दरअसल, केंद्र सरकार ने हाल ही में एक अध्यादेश जारी कर आयुर्वेद में पोस्ट ग्रैजुएट करने वाले डॉक्टरों को 58 प्रकार की सर्जरी सीखने और प्रैक्टिस करने की अनुमति दी है। इस निर्णय से ऐलोपैथ के डॉक्टरों में काफी नाराज़गी है। डॉक्टरों के सबसे बड़े संगठन आईएमए ने सरकार के इस फैसले को मरीज़ों की जान के साथ खिलवाड़ करना बताया है। साथ ही इस निर्णय को तुरंत वापस लेने की मांग की है।

आईएमए के बयान में कहा गया है कि ‘ 11 दिसंबर को सभी डॉक्टर सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक हड़ताल पर रहेंगे। सीसीआईएम की अधिसूचना और नीति आयोग द्वारा चार समितियों के गठन से सिर्फ मिक्सोपैथी को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही आईएमए ने अधिसूचना को वापस लेने और नीति आयोग की ओर से गठित समितियों को रद्द करने की मांग की है।’