सिर्फ हिंदी-अंग्रेजी में आयोजित परीक्षा को मद्रास HC ने सस्पेंड किया

by GoNews Desk Oct 27, 2021 • 05:47 PM Views 866

मद्रास हाईकोर्ट ने केंद्रीय स्कॉलरशिप प्रोग्राम के तहत कराए जा रहे एप्टीट्यूट टेस्ट को सस्पेंड कर दिया है। किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना के तहत यह परीक्षा 7 नवंबर को कराई जानी थी लेकिन परीक्षा के खिलाफ दायर  याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने इस पर फिलहाल रोक लगा दी है। इस याचिका में एग्जाम क्षेत्रीय भाषाओं में कराने की मांग की गई है। दरअसल परीक्षा का आयोजन सिर्फ हिंदी और अंग्रेजी में ही कराए जाने के आदेश थे।

अदालत ने केंद्र के उस बयान को भी खारिज कर दिया जिसमें उसने कहा था कि उसके पास गैर हिंदी और गैर अंग्रेजी भाषी उम्मीदवारों की लिखी गई सामग्री की जांच के लिए योग्य जांतकर्ता नहीं है। इस पर चीफ जस्टिस संजीब बैनर्जी और एम दुराईस्वामी की बेंच ने कहा कि गैर हिंदी और गैर अंग्रेजी भाषी छात्रों के जवाबों की जांच करने के लिए एग्जामिनर न होना केंद्र की कमी है और इसके चलते गैर हिंदी और गैर अंग्रेजी भाषी छात्रों को परेशान नहीं किया जाना चाहिए।

मद्रास हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से भी जवाब मांगा है कि उसने परीक्षा को कई भाषाओं में आयोजित करने के लिए क्या कदम उठा रहा है। केंद्र सरकार के राष्ट्रीय स्तर पर कराई जा रही इस परीक्षा को सिर्फ हिंदी या अंग्रेजी के माध्यम से ही दिया जा सकता है और इससे एक बार फिर देश में भाषा को लेकर विवाद उभर सकता है। बीते दिनों ज़ोमैटो की एक अधिकारी के हिंदी को राष्ट्र भाषा बताए जाने के बाद देश में भाषा पर विवाद तेज़ हो गया था।