ads

खट्टर ने दी अमरिंदर सिंह को नसीहत, लेकिन हरियाणा में कोरोना के आँकड़ों से हुई फ़ज़ीहत

by GoNews Desk Nov 26, 2020 • 07:34 PM Views 1531

हरियाणा और पंजाब के किसान कृषि क़ानून के ख़िलाफ सड़क पर हैं और राजधानी दिल्ली की तरफ मार्च कर रहे है। हरियाणा के किसानों को दिल्ली की सीमाओं पर रोका जा रहा है तो पंजाब के किसानों को हरियाणा में एंट्री नहीं दी जा रही है। इसे लेकर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों में ट्विटर पर ठन गई है।

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने अपने ट्वीट में कहा, 'आपके झूठ, धोखे और कुप्रचार का समय ख़त्म हो गया है - लोगों ने आपका असली चेहरा देख लिया है। कृपया कोरोना महामारी के दौरान लोगों के जीवन को ख़तरे में डालना बंद करें। मैं आपसे लोगों के जीवन के साथ नहीं खेलने का आग्रह करता हूँ - कम से कम महामारी के समय सस्ती राजनीति से बचें।'

कुल मिलाकर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कैप्टन को कोरोना की समस्या से लड़ने की सलाह दी। लेकिन इसमें एक पेच है। दरअसल, महामारी की मार पंजाब के मुक़ाबले हरियाणा पर ज़्यादा पड़ी है। कोविड ट्रैकिंग वेबसाइट ‘कोविड19 इंडिया’ के मुताबिक़ हरियाणा में कोरोना संक्रमण के मामले 224,489 है जबकि  पंजाब में 148,435 मामले हैं। इतना है नहीं, हरियाणा के मुक़ाबले पंजाब का रिकवरी रेट भी ज़्यादा है।