निर्भया गैंगरेप केस में फैसला सुनाने वाली जस्टिस आर भानुमति को सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम में जगह मिली

by Deepak Pokharia Nov 19, 2019 • 12:28 PM Views 423
ads

सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों वाली कॉलेजियम में अब एक महिला जज भी है। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के रिटायर होने के बाद अब जस्टिस आर भानुमति को कॉलेजियम में शामिल किया गया है। करीब 13 साल बाद सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम में किसी महिला जज को जगह मिली है।

अब कॉलेजियम में सीजेआई एसए बोबडे, जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस आरएफ नरीमन और जस्टिस भानुमति होंगी। जस्टिस आर भानुमति सुप्रीम कोर्ट में सीनियरटी के मामले में पांचवें नंबर पर हैं। जस्टिस आर भानुमति दिल्ली में 16 दिसंबर 2012 को हुए निर्भया गैंगरेप केस का फैसला सुनाने वाली पीठ का हिस्सा थीं।

इस मामले में उन्होंने अपना फैसला अलग से लिखते हुए इस केस को रेयरेस्ट ऑफ रेयर माना था। जस्टिस आर भानुमति 3 अप्रैल 2003 को मद्रास हाई कोर्ट कोर्ट की जज बनी थीं। 16 नवंबर 2013 को उन्हें झारखंड हाई कोर्ट का चीफ जस्टिस बनाया गया। इसके बाद वह 13 अगस्त 2014 को सुप्रीम कोर्ट की जज बनीं।

जस्टिस आर भानुमति से पहले जस्टिस रूमा पाल 2006 में रिटायर होने तक कॉलेजियम की हिस्सा रहीं थी।