झारखंड में अफवाह, चोरी और शक के आधार पर लिंचिंग, कई की मौत

by GoNews Desk Apr 02, 2021 • 08:07 AM Views 780

देश का पूर्वी राज्य झारखंड, मानो मॉब लिंचिंग का हब बन गया है। पिछले दिनों कई ऐसी घटनाएं सामने आई जिसमें भीड़ ने पीट-पीटकर कई लोगों की हत्या कर दी है। ताज़ा मामला सिंघूभूम के चाईबसा का है जहां ग्रामीणों ने 22 वर्षीय एक शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी। शख़्स की पहचान रसिका लागुरी के नाम से हुई है जो 29 मार्च को अपने घर से बाहर निकला था लेकिन भीड़ के भेंट चढ़ गया।

झारखंड पुलिस के मुताबिक़ रसिका की हत्या चोरी के शक में की गई। रसिका लागुरी गाड़ी चलाने का काम करता था। रसिका की पत्नी पार्वती का कहना है कि उनके पति और आरोपियों के बीच विवाद हुआ था। पार्वती कहती हैं कि गांव में ही रहने वाले एक राम लागुरी नाम के शख्स के बागीचे से मोटर चोरी हो गई जिसका आरोप उनके पति पर ही मढ़ा गया। बाद में जब वो घर से बाहर निकला तो लोगों ने उसे घेर लिया और पीटना शुरु कर दिया। ग्रामीणों ने शख्स को इतना पीटा की उसकी मौत हो गई।

झारखंड में झूठ, अफवाह और चोरी के आरोप में अबतक कइयों पर हमले हुए हें जिसमें कई लोगों की मौत हो गई। अगर पिछले महीने मार्च की बात करें तो अलग-अलग दो घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गई। 14 मार्च को रांची के थनगाड़ा थाना क्षेत्र में हुई लिंचिंग की घटना में मुबारक नाम के एक युवक की हत्या कर दी गई। मुबारक को चोरी के आरोप में लोगों के एक समूंह ने इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई। मृतक के शव के पास बाइक के कुछ स्पेयर पार्ट्स मिले थे। इस मामले को लेकर मृतक के भाई ने पुलिस में शिकायत की जिसमें उन्होंने किसी साज़िश के तहत हत्या का आरोप लगाया है।