नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सत्तावाद की तरफ बढ़ रहा देश, 'हिंदू राष्ट्रवाद' अधिकार, स्वतंत्रता पर हावी: रिपोर्ट

by GoNews Desk Mar 05, 2021 • 08:33 AM Views 800

नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से देश में नागरिकों का अधिकार और स्वतंत्रता ख़त्म होता जा रहा है। मोदी के नेतृत्व में भारत ने वैश्विक स्तर पर अब एक लोकतांत्रिक लीडर के तौर पर काम करना छोड़ दिया है। अमेरिकी थिंक-टैंक फ्रीडम हाउस ने अपनी हालिया रिपोर्ट में यह बात कही है। रिपोर्ट में ख़ासतौर पर मुसलमानों पर हमले और उनपर आए दिन लगाए जा रहे राजद्रोह के मामलों का भी ज़िक्र है। इस लिहाज़ से फ्रीडम हाउस ने भारत को ‘स्वतंत्र’ से ‘आंशिक स्वतंत्र’ की कैटगरी में शामिल कर दिया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की स्थिति में आया ये बदलाव लोकतंत्र और सत्तावाद में होने वाले वैश्विक बदलाव का ही एक हिस्सा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत भी सत्तावाद की तरफ बढ़ रहा है। फ्रीडम हाउस की रिपोर्ट ‘डेमोक्रेसी अंडर सीज़’ में भारत 71वें स्थान से गिरकर 67वें स्थान पर आग गया है।

अपनी वार्षिक रिपोर्ट में, फ्रीडम हाउस ने कहा कि (मोदी की) हिंदू राष्ट्रवादी सरकार में मानवाधिकार संगठनों पर दबाव बढ़ा है, शिक्षाविदों और पत्रकारों पर दबाव बढ़ गए हैं और उन्हें धमकाया जा रहा है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ख़ासतौर पर मुसलमानों के ख़िलाफ़ होने वाले हमले देश में राजनीतिक और नागरिक स्वतंत्रता बिगड़ने की वजह है