अपनी पूरी आबादी को वैक्सीनेट कर 1.8 लाख करोड़ बचा सकता है भारत: SBI Research

by GoNews Desk May 27, 2021 • 04:46 PM Views 766

देश कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर से निपटने में कितना कामयाब हुआ, इसकी तस्वीरें हम सब ने सोशल मीडिया पर खुब देखी है। हमने सोशल मीडिया पर जो तस्वीरें देखी वो सरकार की नाकामियों का एक पहलू है। दूसरा पहलू यह है कि संक्रमण की दूसरी लहर ने देश की अर्थव्यवस्था को और भी चौपट कर दिया है।

संक्रमण की पहली लहर के दौरान तो प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केन्द्र ने कमान संभाली जिसका नतीज़ा हमने प्रवासी मज़दूरों के पलायन और बकौल केन्द्र 'दुनिया के सबसे सख़्त लॉकडाउन' की वजह से राष्ट्रीय जीडीपी के 9 फीसदी तक सिकुड़ने के रूप में देखा। दूसरी लहर का प्रभाव अभी स्पष्ट नहीं है लेकिन बड़े बैंकों द्वारा की गई कैलकुलेशन बहुत उत्साहजनक नहीं है।

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने बताया है कि देश का बिज़नेस एक्टिविटी इंडेक्स गिरकर 62 पर आ गया है जो पिछले साल के दौरान समान अवधि से भी बदतर है।