ads

गणतंत्र दिवस पर राजधानी दिल्ली में हिंसा, विदेशी मीडिया में मोदी सरकार की किरकिरी

by GoNews Desk Jan 27, 2021 • 02:48 PM Views 286

गणतंत्र दिवस के मौके पर किसानों के ट्रैक्टर परेड के दौरान राजधानी दिल्ली में हिंसा हो गई। इस दौरान आंदोलित भीड़ में से कुछ लोग लाल क़िले के भीतर घुस गए और क़िले की प्राचीर पर सिखों के धार्मिक झंडे निशान साहब को लगा दिया। इस दौरान एक किसान की मौत भी हुई जिसका आरोप दिल्ली पुलिस पर लगाया जा रहा है। हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने अबतक 22 एफआईआर दर्ज किए हैं।

परेड के दौरान किसान और पुलिस में हिंसक झड़पें हुई जिसमें 83 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। कम से कम 20 ट्रैक्टर लाल क़िले के भीतर घुसे थे। इसके बाद लाल क़िले में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। इनके अलावा लाल क़िला, जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन पर एंट्री बंद कर दी गई है। वहीं तनावपूर्ण हालात को देखते हुए हरियाणा के तीन ज़िलों में शाम 5 बजे तक टेलीकॉम सेवाएं बंद कर दी गई है।

गणतंत्र दिवस के मौके पर राजधानी में भड़की हिंसा को लेकर विदेशी मीडिया ने सरकार की कड़ी आलोचना की है। द न्यू यॉर्क टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि ‘भारतीय किसानों का प्रदर्शन मोदी के लिए चुनौति’ बन गया है। अख़बार ने लिखा, ‘हज़ारों प्रदर्शनकारी किसानों ने मंगलवार को भारत की राजधानी नई दिल्ली में प्रदर्शन किया। ट्रैक्टर से उन्होंने बैरिकेड्स हटा दिए। पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे जिससे अराजकता फैल गई। यह सरकार को सीधी चुनौती है।’