देशभर में बैंकों में ठगी और धोखाधड़ी के मामले बढ़े

by Renu Garia Feb 15, 2020 • 11:10 AM Views 562

देशभर में बैंकों में ठगी और धोखाधड़ी के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. अब आरटीआई से मिली जानकारी बताती है कि पिछले साल अप्रैल से दिसंबर के बीच 8,926 मामले धोखाधड़ी दर्ज हुए और इस दौरान 1.17 लाख करोड़ रुपये की चपत लग गई. हैरानी की बात ये है कि धोखाधड़ी के सबसे ज़्यादा मामले स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में दर्ज हुए हैं.


देशभर के बैंकों में होने वाली धोखाधड़ी के मामले साल दर साल बढ़ते जा रहे हैं. अब एक आरटीआई के जवाब में आरबीआई ने बताया है कि चालू वित्त वर्ष के पहले नौ महीनों अप्रैल-दिसंबर के बीच 18 सरकारी बैंकों में धोखाधड़ी के 8,926 मामले सामने आए. इस दौरान बैंकों को 1 लाख 17 हज़ार करोड़ रुपये की चपत लगी.

यह आरटीआई मध्यप्रदेश के आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ दायर की थी. इसके मुताबिक एसबीआई धोखाधड़ी का सबसे बड़ा शिकार बना जहां नौ महीनों में धोखाधड़ी के 4,769 मामले दर्ज हुए और बैंक को 30,300 करोड़ रुपये की चपत लगी.

इसी तरह पंजाब नेशनल बैंक में 294 मामलों में 14,928 करोड़, बैंक ऑफ बड़ौदा में 250 मामलों में कुल 11,166 करोड़, इलाहाबाद बैंक में 860 मामलों में 6,781.57 करोड़, बैंक ऑफ इंडिया में 161 मामलों में 6,626 करोड़, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में 292 मामलों में 5,604, इंडियन ओवरसीज बैंक में 151 मामलों में 5,556 करोड़ और ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में 282 मामलों में 4,899.27 करोड़ रुपये की चपत लग चुकी है.

इनके अलावा केनरा बैंक, यूको बैंक, सिंडिकेट बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक, युनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक और पंजाब एंड सिंध बैंक में 1,867 मामले सामने आए जिसमें कुल 31,600 करोड़ रुपए की चपत लगी.