कोरोना काल में विदेशों में नौकरी गंवा रहे हैं भारतीय, अरबों डॉलर के नुक़सान की आशंका

by Rahul Gautam Jan 07, 2021 • 06:19 PM Views 1031

कोरोनावायरस और लॉकडाउन के चलते दुनियाभर में आर्थिक संकट गहराता जा रहा है। भारत पर इसकी दोहरी मार पड़ रही है। एक तरफ़ देश में बेरोजगारी बढ़ रही है तो दूसरी तरफ़ विदेशों में काम करके भारतीय अर्थव्यवस्था को मज़बूत बनाने में योगदान देने वाले भी बेरोज़गार होकर वापस आ रहे हैं।

Department of Non-Resident Keralites Affairs के मुताबिक बीती साल मई से लेकर इस साल 4 जनवरी तक 8.43 लाख लोग विदेश से केरल लौटे हैं। इनमे 5.52 लाख लोगो ने केरल वापस आने की वजह विदेश में रोज़गार छिन जाना बताया है। पिछले 30 दिनों में ही 1.40 लाख लोग वापस लौटे हैं। देश में पहले ही अर्थव्यवस्था मुश्किल दौर से गुजर रही है, ऐसे में बाहर बसे भारतीयों के लौटे से उसे कैसे झटका लगेगा, इससे आँकड़ों से समझिये।

लोकसभा में जारी आंकड़ों से पता चलता है कि रोज़गार और घर परिवार चलाने के लिए एक करोड़ 36 लाख भारतीय विदेशों में बस गये हैं। अकेले, सात इस्लामिक देशों यानी यूनाइटेडट अरब अमीरात, सऊदी अरब, कुवैत, ओमान, क़तर, बहरीन और मलेशिया में 83 लाख 72 हज़ार 333 भारतीय रह रहे हैं, जबकि अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, नेपाल, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा में 30 लाख 410 भारतीय हैं।