ads

खाद्य तेल की क़ीमतों ने बिगाड़ा रसोई का बजट

by GoNews Desk Nov 21, 2020 • 08:54 AM Views 188

कोरोना महामारी के बीच बढ़ती महंगाई के दौर में अब खाद्य तेल की कीमतें भी सरकार के लिए चिंता का सबब बन गई हैं। पिछले एक साल में सभी खाद्य तेलों - मूंगफली, सरसों, वनस्पति और पाम तेल के औसतन दामों में वृद्धि हुई है, जबकि ताड़, सोयाबीन और सूरजमुखी के तेलों में 20 से 30 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है। पहले से आर्थिक रूप से परेशान आम आदमी की रसोई का बजट इससे और बिगड़ गया है।

उपभोक्ता मंत्रालय के प्राइस मॉनिटरिंग सेल से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक 18 नवंबर 2019 को राजधानी दिल्ली में एक लीटर सरसों के तेल की कीमत 121 रुपये थे, जोकि इस साल 19 नवंबर 2020 को बढ़कर 155 रुपये प्रति लीटर हो गई है। मुंबई में 124 रुपये से बढ़कर इस साल 162 रूपए प्रति लीटर, कोलकाता में पिछले 101 रुपये से बढ़कर इस साल 137 रुपये प्रति लीटर हो गई है।

अगर वनस्पति तेल की बात करें तो 18 नवंबर 2019 को राजधानी दिल्ली में एक लीटर वनस्पति तेल की कीमत 91 रुपये प्रति लीटर थी, जोकि इस साल बढ़कर 116 रुपये प्रति लीटर हो गई है।  मुंबई में 89 रुपये प्रति लीटर से इस साल  कीमत बढ़कर हुई 115 रुपये प्रति लीटर, जबकि कोलकाता में बीते साल एक लीटर वनस्पति तेल की कीमत 72 रूपए थी जो बढ़कर 100 प्रति लीटर तक पंहुचा गई है।