खाताधारकों को ब्याज चुकाना मुश्किल हुई, कर्ज़ से होने वाली आमदनी घटी: एसबीआई

by GoNews Desk Jun 15, 2020 • 08:32 PM Views 606

देश में कोरोना महामारी के चलते आर्थिक अनिश्चितता फैली हुई है। ख़ौफ़ इतना है कि लोग पैसा ख़र्च करने में डर रहे हैं और बैंको में जमा पूंजी निकालने की बजाय और जमा कर रहे हैं. देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में लिक्विडिटी रेश्यो 143 फीसदी पर पहुंच गया है। इसका सीधा मतलब है कि या तो बैंक क़र्ज़ देने से डर रहा है या लोग क़र्ज़ लेने आगे नहीं आ रहे।

बता दें कि रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने सभी बैंकों को 100 फीसदी लिक्विडिटी रेश्यो बनाए रखने का निर्देश दिया था. बाद में कोरोना में जाम हुई आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने के लिए इसे घटाकर 80 फीसदी कर दिया था ताकि बैंक ज्यादा से ज्यादा लोगों को क़र्ज़ दे पाए.

लेकिन एसबीआई के आंकड़े बताते हैं कि लोग फ़िलहाल क़र्ज़ से तौबा करके बैठे हैं और किसी तरह के ईएमआई में नहीं फंसना चाहते हैं. स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के चेयरमैन रजनीश कुमार ने हाल में ही कहा था ' हमारे बैंक में पैसा है, लेकिन बाज़ार में खरीददार नहीं हैं.'