स्मार्टफ़ोन पर रोज़ाना 5 घंटे समय बिताते हैं भारतीय, दुनिया में अव्वल

by Siddharth Chaturvedi 8 months ago Views 43324

Indians spend five hours a day on smartphones, top
भारत में लोग दूसरे देशों की तुलना में स्मार्टफोन पर ज्यादा समय बिताते हैं। छोटे वीडियो देखने का सिलसिला इस क़दर बढ़ रहा है कि 2025 तक  स्मार्टफोन पर समय बिताने का औसत समय चार गुना हो जायेगा। यह निष्कर्ष है हाल ही में जारी नोकिया की मोबाइल ब्रॉडबैंड इंडिया ट्रैफ़िक इंडेक्स (एमबिट) 2021 की रिपोर्ट का। इसके मुताबिक भारतीय औसतन रोज़ पाँच घटे स्मार्टफोन पर बिताते हैं जो दुनिया में सबसे ज़्यादा है।

रिपोर्ट के अनुसार भारत में साल 2020 में डेटा ट्रैफिक में 4G का करीब 99 प्रतिशत योगदान था। रिपोर्ट की मानें तो भारत में पांच साल में डेटा ट्रैफिक में लगभग 60 गुना वृद्धि हुई है। डेटा कंज्यूमिंग में भारत बड़े बाज़ारों में शामिल है और यहां प्रति माह प्रति उपभोक्ता मोबाइल डेटा उपयोग 13.5 GB से अधिक हो रहा है।


रिपोर्ट के अनुसार मोबाइल पर ब्रॉडबैंड के सबसे अधिक इस्तेमाल के मामले में फिनलैंड के बाद दूसरा स्थान भारत का है। नोकिया के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर अमित मारवाहा ने रिपोर्ट जारी करते हुए कहा कि "पिछले पांच साल में भारत में डाटा यूज में 63 गुना वृद्धि हुई है। यह एक बड़ी बात है, एक रिकार्ड है। मुझे नहीं लगता कि कोई और देश या क्षेत्र इस रिकार्ड को तोड़ सकता है।”

इस रिपोर्ट में पता चला है कि भारत में प्रति माह, प्रति यूज़र डाटा का यूज़ साल दर साल 76 प्रतिशत की दर से बढ रहा है। 3G और 4G नेटवर्क पर यह 13.7 जीबी तक पहुंच गया है। पिछले साल भारत में एक सामान्य यूज़र का मोबाइल डाटा यूज़ चार गुना बढ गया और यह औसतन पांच घंटा प्रति दिन तक पहुंच गया है। मारावहा ने कहा कि 2020 में घर से काम करने की ज़रूरत के कारण डाटा का उपभोग तेज़ी से बढ़ा।

नोकिया की इस नई रिपोर्ट के मुताबिक 55 प्रतिशत डाटा छोटी सामग्री देखने पर खर्च किया जाता है जो यूट्यूब जैसे चैनलों पर उपलब्ध होती हैं। इसके मुताबिक भारत में आने वाले समय में फाइबर-टू-द-होम और फिक्स्ड वायरलेस डाटा का तेज़ी से विस्तार होगा। मारवाहा ने कहा कि उपभोग के रुझानों को देखते हुए भारत में 5G मोबाइल सेवाओं को अब शुरू करने का पक्ष मज़बूत दिखता है।

वहीं यह सब देखते हुए अब 2021 में स्मार्टफोन इंडस्ट्री में दहाई अंक की वृद्धि की संभावना है। सस्ते 4G स्मार्टफोन लॉन्च होने से डाटा ट्रैफिक में भी बढ़त होगी। यह बात भी साफ़ है कि अभी डाटा का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल OTT प्लेफॉर्म पर हो रहा है।

ताज़ा वीडियो