फेसबुक पर लगा जासूसी का आरोप, जानकारी चोरी के लिए फोन कैमरे का किया इस्तेमाल

by Siddharth Chaturvedi 1 year ago Views 24963

facebook accused for stealing user's personal info
फेसबुक के ऊपर इंस्टाग्राम यूजर्स की कथित रूप से जासूसी करने की बात सामने आई है। फेसबुक पर ऐसा आरोप है कि इसके लिए उसने यूजर के ही फोन कैमरों का इस्तेमाल किया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईफोन यूजर्स जब फोटो शेयरिंग ऐप इंस्टाग्राम पर एक्टिव नहीं थे तब भी उनके फोन के कैमरा का एक्सेस फेसबुक के पास था। हालांकि, फेसबुक ने इन तमाम खबरों का खंडन किया है। उसके मुताबिक, यह सब एक बग यानि तकनीकी गड़बड़ी की वजह से हुआ है।


सैन फ्रांसिस्को के फेडरल कोर्ट में गुरुवार को दायर शिकायत में न्यू जर्सी की इंस्टाग्राम यूजर ब्रिटनी कॉन्डिटी ने कहा कि इंस्टाग्राम ऐप में कैमरा का उपयोग जानबूझकर किया जाता है। यह सब यूजर का जरूरी और निजी जानकारी कलेक्ट करने के लिए किया जाता है, अन्यथा कोई क्यों किसी और के कैमरा को एक्सेस करेगा।

बता दें कि जब भी हम किसी ऐप को फोन में इंस्टॉल करते हैं तब ऐप ओपन होने से पहले कुछ परमिशन मांगता है, जिसमें कॉन्टैक्ट, मीडिया, लोकेशन, कैमरा आदि शामिल होते हैं। जब हम इन सभी को Allow कर देते हैं तब ऐप को डेटा एक्सेस करने के राइट्स मिल जाते हैं। ऐसे में जब भी हमारे फोन का डेटा ऑन रहता है तब ये ऐप चोरी से आपके डेटा पर नजर रखना शुरू कर देते हैं।

फेसबुक, इंस्टाग्राम ऐप भी इसी तरह से फोन डेटा पर नजर रखते हैं। यहां तक की आपकी मर्जी के बिना ये आपके फोन के कैमरा को भी एक्सेस कर सकते हैं, क्योंकि आप उसकी इजाज़त पहले ही दे चुके होते हैं।

बता दें, फेसबुक पर पहले भी ऐसे चोरी के आरोप लग चुके हैं। यूजर का डेटा सुरक्षित नहीं रख पाने के चलते ब्रिटेन सरकार ने  फेसबुक पर इसी साल पांच लाख पाउंड (करीब चार करोड़ 55 लाख रुपए) का जुर्माना लगाया था। जांच में इस बात का पता चला कि वर्ष 2016 के यूरोपीय यूनियन के जनमत संग्रह के दौरान फेसबुक में मौजूद यूजर के डेटा का दुरुपयोग किया गया था।

इसी साल अगस्त महीने में अमेरिका में फेसबुक पर एक मुकदमा दायर किया गया जिसमें फेसबुक की सब कंपनी इंस्टाग्राम द्वारा यूजर्स की इजाजत के बिना उनका बायोमेट्रिक डेटा कलेक्ट करने का आरोप लगाया गया। दायर किए गए मुकदमे में इंस्टाग्राम पर आरोप था कि कंपनी  खुद से ही लोगों के चेहरे को स्कैन करती है। इस दौरान उन लोगों के चेहरे भी स्कैन किए गए हैं जो किसी दूसरे के इंस्टाग्राम के अकाउंट में दिख रहे थे। ऐसे करके 10 करोड़ लोगों की जानकारी इकट्ठा करने का आरोप है ।

डेटा चोरी से बचने के लिए कुछ ज़रूरी बातें।

  • डेटा चोरी होने से बचाने के लिए किसी भी ऐप्स को सिर्फ वही परमिशन दें जो उसके लिए जरूरी है।
  • जब भी हम किसी ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं तब उसे बंद करने की बजाए मिनीमाइज कर देते हैं। दरअसल, जब हम फोन के होम की को प्रेस करते हैं तब ऐप मिनीमाइज होकर बैकग्राउंड में चलते रहते हैं। ऐसी स्थिति में वे आपके डेटा पर नजर रख सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि ऐप को बंद कर दिया जाए।
  • यदि आप बार-बार इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं करते तब फोन का डेटा बंद रख सकते हैं। खासकर रात के वक्त फोन का डेटा बंद कर देना चाहिए। इससे डेटा चोरी होने से बचा जा सकता है।

ताज़ा वीडियो