ads

हरिद्वार कुंभ पर विदेशी मीडिया ने क्या लिखा ?

by M. Nuruddin 3 weeks ago Views 1903

कई रिसर्च रिपोर्ट में यह बात सामने आ चुका है कि एक संक्रमित मरीज़ तीन लोगों में संक्रमण फैला सकता है...

What did International media write on Haridwar Kum
‘अपनी पार्टी के वोटों को सुरक्षित रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच धार्मिक उत्सव में कम से कम 50 मिलियन हिंदुओं को पवित्र डुबकी की इजाज़त दे दी है, जो कोरोना का सुपरस्प्रेडर बन गया है।’ यह बात अंतराष्ट्रीय न्यूज़ ऑर्गेनाज़ेशन याहू न्यूज़ ने अपनी एक रिपोर्ट में कही है। याहू न्यूज़ ने लिखा है, ’50 मिलियन लोग सुपरस्प्रेडर फेस्टिवल में शामिल हुए ताकि मोदी हिंदू वोट को सुरक्षित रख सकें’

भाजपा शासित राज्य उत्तराखंड के हरिद्वार में पिछले दो हफ्ते से कुंभ मेला चल रहा है जिसमें लाखों की संख्या में हिंदू समुदाय के लोग गंगा में डुबकी लगाने पहुंच रहे हैं। यही वजह है कि देशभर में हर रोज़ औसतन दो लाख से ज़्यादा नए संक्रमण के मरीज़ सामने आ रहे हैं। 12 और 14 अप्रैल को कुंभ में 48 लाख हिंदू साधु-संतों और आम लोगों ने डुबकी लगाई है। कोरोनाकाल में इतने बड़े स्तर पर लोगों का एक साथ जुटना किसी ‘विस्फोटक’ से कम नहीं है। इसकी चर्चा दुनियाभर में हो रही है।


अंतराष्ट्रीय मीडिया ऑर्गेनाइजेशन अलजज़ीरा ने 14 अप्रैल को अपने एक लेख में कुंभ को ‘सुपर स्प्रेडर’ बताया है। अलजज़ीरा ने लिखा है, ‘सुपर स्प्रेडर: कुंभ में एक हज़ार से भी ज़्यादा पॉज़िटिव।’ लेख में कहा गया है ‘जैसा कि भारत में कोरोना संक्रमण के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी हुई है, फिर भी सैकड़ों, हज़ारों राख-तपस्वी और धर्माभिमानी हिंदुओं ने बुधवार को धार्मिक त्योहार के दौरान गंगा में डुबकी लगाया ताकि उनके पाप धुल जाएं।’

दि गार्डियन ने भी कुंभ में कोरोना नियमों के उल्लंघन को लेकर एक लेख लिखा है। गार्डियन ने लिखा है, ‘कोरोना वायरस के बीच जारी त्योहार में एक मिलियन से ज़्यादा हिंदू इकट्ठा हुए।’

महामारी के बीच अन्य धार्मिक समारोहों की तुलना करते हुए लिखा गया है कि ‘कोविड की वजह से कई धार्मिक समारोहों को रद्द कर दिया गया या कोविड की वजह से कम लोगों को इजाज़त दी गई। सामान्य साल में 20 लाख से ज़्यादा की तुलना में पिछले साल कुछ हज़ार लोगों ने मक्का के हज यात्रा में हिस्सा लिया। पोप ने क्रिसमस की पूर्व संध्या पर मध्यरात्रि का जश्न मनाया जिसमें सामान्य दस हज़ार की बजाय 100 से कम लोगों ने हिस्सा लिया।’

बीबीसी वर्ल्ड ने भी कोरोना संक्रमण के बीच जारी कुंभ को लेकर एक लेख प्रकाशित किया है जिसमें कहा गया है कि ‘हरिद्वार के कुंभ में सैकड़ों कोरोना संक्रमित हुए।’ लेख में लिखा गया है, ‘भारत के हरिद्वार शहर जहां कुंभ मेले में भारी भीड़ इकट्ठा है, नौ शीर्ष संतों समेत सैकड़ों भक्त कोरोना संक्रमित हो गए हैं।’  

सीएनएन ने अपने 13 अप्रैल के लेख में लिखा है कि, ‘भारत में संक्रमण के बढ़ते दैनिक मामलों के बीच लाखों हिंदू तीर्थयात्री गंगा नदी की ओर बढ़े।’ सीएनएन ने लिखा है, ‘उत्तरी भारत के हरिद्वार में हिंदू भक्तों का सड़क पर जमावड़ा। देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का होता उल्लंघन।’

ग़ौरतलब है कि शनिवार को जबलपुर नरसिंह मंदिर के प्रमुख महामंडेलश्वर डॉक्टर स्वामी श्याम देवाचार्य महाराज की कोरोना से मौत हो गई है जबकि 80 साधु संक्रमित पाए गए हैं। मेला प्रशासन के पास कितने लोग पॉज़िटिव हुए इसकी कोई जानकारी नहीं है। लेकिन मेला प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया है कि 5 अप्रैल से 14 अप्रैल के बीच 68 साधु-संत संक्रमित हुए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ सोमवार से अबतक मेला परिसर में रैंडम टेस्टिंग के दौरान 2,000 से ज़्यादा लोग पॉज़िटिव पाए गए।

ध्यान देने वाली बात यह है कि कई रिसर्च रिपोर्ट में यह बात सामने आ चुका है कि एक संक्रमित मरीज़ तीन लोगों में संक्रमण फैला सकता है। ऐसे में कुंभ में एक भी संक्रमित मरीज़ का मिलना समस्या का सबब बन सकता है।

ताज़ा वीडियो