देश के तमाम राज्यों में वीकली लॉकडाउन जारी, उद्धव ठाकरे बोले- पाबंदियां हटाना मुश्किल

by M. Nuruddin 1 year ago Views 2144

Weekly lockdown continues in all states of the cou
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए गृह मंत्रालय ने 25 मार्च से 31 मई तक लगातार लॉकडाउन लगाया था. मगर 67 दिनों का लॉकडाउन ख़त्म होने के बाद देशभर में कोरोना विस्फोट हो गया और ज़्यादातर राज्यों में लॉकडाउन की वापसी हो गई. उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल समेत एक दर्जन से ज़्यादा राज्य किसी ना किसी रूप में लॉकडाउन झेल रहे हैं. शनिवार को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा. यह पाबंदी इतवार को भी जारी रहेगी और अगला वीकेंड लॉकडाउन 29 जुलाई को शुरू होगा.

राज्य के मिदनापुर ज़िले में भी पुलिस का सख़्त पहरा है. यहां लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए ड्रोन से निगरानी की जा रही है. आंकड़ों के मुताबिक पश्चिम बंगाल में कोरोना का संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है. यहां अब तक 53 हज़ार से ज़्यादा कोरोना मरीज़ सामने आ चुके हैं.


जम्मू-कश्मीर में भी हफ्ते में दो दिनों के लॉकडाउन चल रहा है. घाटी के ज़्यादातर इलाक़ों में सड़कें खाली हैं और लोगों ने खुद को घरों में क़ैद कर रखा है. श्रीनगर के रीगल चौक पर आम दिनों में भारी भीड़ होती है लेकिन कोरोना और लॉकडाउन की वजह से लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं. जम्मू-कश्मीर में अब तक 16 हज़ार से ज़्यादा मरीज़ सामने आ चुके हैं.

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 10 दिनों का लॉकडाउन चल रहा है और पुलिस की टीमें सड़कों पर गश्त कर रही हैं. इस महामारी के चलते राज्य में हालात बेहद ख़राब हैं जहां 25 हज़ार से ज़्यादा मरीज़ सामने आ चुके हैं. राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं.

केरल देश के उन राज्यों में शामिल है जिसने इस महामारी को लगभग काबू कर लिया था लेकिन पिछले महीने से यहां हालात तेज़ी से बिगड़ गए हैं. राजधानी तिरुवनंतपुरम में वीकली लॉकडाउन के बीच सड़कें वीरान हैं जहां ट्रिपल लॉकडाउन चल रहा है. यहां अब तक 16 हज़ार से ज़्यादा कोरोना केस सामने आ चुके हैं.

देश के सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र के नागपुर में दो दिनों के लिए जनता कर्फ्यू लगया गया है. नागपुर म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन का कहना है कि ज़रूरी सेवाओं के अलावा शहर में सबकुछ बंद है. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि वह फिलहाल पूरी तरह पाबंदियां हटाने के हक़ में नहीं हैं और स्वास्थ्य और आर्थव्यवस्था के बीच में एक तालमेल का होना ज़रूरी है. माना जा रहा है कि जब तक संक्रमण पूरी तरह क़ाबू में नहीं आ जाता, राज्य में पाबंदियां जारी रहेंगी. 

ताज़ा वीडियो