दस्ताने पहनने से कोरोना का ख़तरा बढ़ जाता है - अमेरिकी विशेषज्ञ

by Rahul Gautam 2 years ago Views 3537

Wearing gloves increases corona risk: US expert
कोरोनावायरस की महामारी को रोकने के लिए तरह-तरह के उपाय किए जा रहे हैं लेकिन इनमें से किए जा रहे कुछ उपाय जानलेवा साबित हो सकते हैं. इन उपायों में से एक है दस्ताने पहनना. विशेषज्ञों की माने तो दस्ताने कोरोना को रोकने में ख़ास कारगर नहीं हैं, उलटा इससे जुड़ी लापरवाही से वायरस के फैलने की आशंका बढ़ जाती है.

डॉक्टर एमिली लैंडन शिकागो विश्वविद्यालय की मशहूर एपिडमॉलॉजिस्ट है जो महामारी और संक्रामक रोगों की विशेषज्ञ मानी जाती हैं. उनके मुताबिक दस्ताने पहनने की बजाये बार बार हाथ धोना ज़्यादा बेहतर है. हाथ धोनो से संक्रमण का खतरा काफी कम हो जाता है जबकि दस्ताना पहने रहने पर ऐसा मुमकिन नहीं है. दस्ताने पहने रहने की वजह से लोग अपने हाथ की सफाई पर ध्यान नहीं देते.


डॉ एमिलि के मुताबिक दस्ताने तभी कारगर हैं जब इनका ढंग से इस्तेमाल किया जाए. अस्पतालों में जब भी किसी संक्रमित चीज़ को दस्तानों से छुआ जाता है, तो 10 से 15 फ़ीसदी यह आशंका बढ़ जाती है कि उन दस्तानों की चपेट में आकर हाथ संक्रमित हो जाए.

डॉ एमिली का ये भी मानना है कि दस्तानों  की बेफिक्री के चलते कई लोग अपने चेहरे और मुंह को आदतन छूते हैं जिससे वायरस अगर आपके दस्ताने पर है, तो फिर उसके शरीर में घुसने की आशंका बढ़ जाती है.

अमेरिका की जॉन हॉप्सकिन विश्वविद्यालय के डॉक्टर एमेश एडेल्जा भी मानते हैं कि दस्तानों से संक्रमण का खतरा उल्टा बढ़ जाता है.  उन्होंने कहा कि स्मार्टफोन दस्ताने पहनकर नहीं चलाए जा सकते. एक ही दस्ताना पहने रहने और उसे बार-बार निकालकर स्मार्टफोन चलाने पर संक्रमण फैल सकता है.

डॉ एडेल्जा भी मानते हैं कि कई लोग खुजली करने, चश्मा ठीक करने और कई दूसरी वजहों के लिए मुंह और चेहरा छूते है, तो अगर दस्ताने संक्रमित हैं तो मानकर चलिए कि इससे आपको भी संक्रमण हो सकता है।

कई विशेषज्ञों का साफ कहना है कि अगर आप एक हेल्थ वर्कर नहीं हैं, या शेफ नहीं हैं जिसके हाथ पर कट या चोट लगी हुई है, तो दस्ताने नहीं पहनने चाहिए.

ताज़ा वीडियो