सहारनपुर में एक शख़्स की पीट-पीटकर हत्या, पांच दिन बाद भी हमलावर गिरफ्त से बाहर

by Rahul Gautam 2 years ago Views 1646

UP: Man beaten to death in Saharanpur village, pol
पश्चिमी यूपी के सहारनपुर में 35 साल के एक शख़्स इसरार की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. पेश से बढ़ई इसरार तब्लीग़ी जमात से जुड़े थे और वारदात के वक़्त फर्नीचर का नाप लेने नज़दीक के गांव जा रहे थे. 18 जून की इस वारदात में शामिल 11 मुलज़िमों को सहारनपुर पुलिस पांच दिन गुज़र जाने के बावजूद गिरफ़्तार नहीं कर पाई है.

इसरार 18 जून की शाम साढ़े पांच बजे अपने गांव इमलिया से नज़दीक के गांव कुटेसरा जाने के लिए निकले थे. उनके भाई गुलफाम के मुताबिक रास्ते में एक बच्चा इसरार की बाइक की चपेट में आ गया जिसके बाद गांववालों ने उसे पकड़ लिया. इसरार का हुलिया देख गांववाले उनके साथ गाली-गलौच करने लगे. उनपर कोरोना संक्रमण फैलाने और आतंकवादी होने का आरोप लगाया. फिर लाठी-डंडे से पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी.


गुलफाम ने कहा कि बाइक से बच्चे को चोट लगी लेकिन अब वो पूरी तरह ठीक है. गांववालों ने पुलिस को इत्तेला करने की बजाय उसके भाई को पीट-पीटकर मार डाला. इसरार के तीन छोटे बच्चे हैं और उनकी पत्नी गर्भवती हैं.

लिंचिंग की इस वारदात का वीडियो वायरल है. वीडियो में लोग इसरार को लाठी-डंडे से मारते  दिख रहे हैं लेकिन सहारनपुर पुलिस हमलावरों को बीच-बचाव करने वाला बता रही है. सहारनपुर पुलिस के मुताबिक बीच बचाव के दौरान चोट लगने से मौत हो गई.

वीडियो देखिए

सहारनपुर पुलिस का यह भी दावा है कि इसरार ने एक मोटरसाइकिल छीनी और एक बच्चे पर धारदार हथियार से हमला किया जिसके बाद लोग भड़क गए. हालांकि इसरार ने ऐसा क्यों किया, इसपर पुलिस ने कुछ नहीं कहा.

वीडियो वायरल होने के चलते सहारनपुर पुलिस ने इस मामले में 11 मुलज़िमों पर हत्या का मुक़दमा दर्ज किया है लेकिन पांच दिन गुज़र जाने के बावजूद मुलज़िमों की गिरफ्तारी नहीं होने से उसकी भूमिका भी सवालों के घेरे में है.

हाल के दिनों में धार्मिक और जातिय पहचान के चलते उत्तर प्रदेश में दलितों और मुसलमानों पर हिंसा के कई मामले सामने आ चुके हैं और क़ानून व्यवस्था लगातार बिगड़ती जा रही है.

ताज़ा वीडियो