ads

आज की वार्ता टली, गृह मंत्री संशोधन को तैयार, क़ानून वापस लेने की मांग पर डटे किसान

by GoNews Desk 5 months ago Views 1240

अमित शाह के कहे के मुताबिक़ आज कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर किसानों के सामने एक प्रस्ताव पेश करेंगे...

Today's meeting adjourned, Home Minister ready for
कृषि क़ानून के ख़िलाफ़ किसानों के आंदोलन का आज 14वां दिन है। आज सरकार और किसानों के बीच छठे दौर की बात होनी थी जो फिलहाल स्थगित हो गई है। मंगलवार देर रात गृह मंत्री अमित शाह और किसानों के बीच बैठक का कोई नतीजा नहीं निकला। गृह मंत्री चाहते हैं कि क़ानून में संशोधन कर दिया जाएगा और यह लिखित में भी दिया जाएगा। लेकिन किसान क़ानून वापस लेने की मांग पर डटे हैं।

देर रात गृह मंत्री के साथ बातचीत के बाद ऑल इंडिया किसान सभा के महासचिव हन्नान मौलाह ने बताया कि ‘सरकार और किसान के बीच (आज) कोई बैठक नहीं होगी। गृह मंत्री ने कहा है कि किसान नेताओं को एक प्रस्ताव दिया जाएगा, जिसपर हम सिंघु बॉर्डर पर इकट्ठा होकर चर्चा करेंगे।’ उन्होंने यह भी बताया कि, ‘अमित शाह का कहना है कि सरकार लिखित में संशोधन करेगी जो वो करने को तैयार हैं। हमारी मांग क़ानून को वापस लेने की है और कोई बीच का रास्ता नहीं चाहिए।’


मंगलवार रात गृह मंत्री से 13 किसान नेताओं ने मुलाक़ात की। बैठक में किसान नेताओं ने क़ानून को वापस लेने की बात दोहराई। अमित शाह के कहे के मुताबिक़ आज कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर किसानों के सामने एक प्रस्ताव पेश करेंगे। अबतक किसान और सरकार के बीच पांच दौर में बात हुई है। इनमें एक बैठक अक्टूबर महीने में हुई थी जिसमें सरकार के किसी भी मंत्री ने बैठक में हिस्सा नहीं लिया था और किसान नेता वॉकआउट कर गए थे। उसके बाद 13 नवंबर और 1, 3 और 5 दिसंबर को बैठक हुई जिसमें अबतक कोई नतीजा नहीं निकला।

उधर 8 दिसंबर के भारत बंद को किसानों ने सफल माना है। सिंघु बॉर्डर पर प्रेस कांफ्रेंस में हरियाणा भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह ने कहा, ‘कृषि क़ानून के ख़िलाफ़ ‘भारत बंद’ सफल रहा और 25 राज्यों में इसका प्रभाव देखा गया। ये कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक ‘सुपर बंद’ था।

इनके अलावा विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल बुधवार शाम 5 बजे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाक़ात करेगा। इनमें कांग्रेस नेता राहुल गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी, सीपीआई के डी. राजा और डीएमके के टीकेएस एलंगोवन शामिल होंगे।

ताज़ा वीडियो