ads

दुनिया के 60 देशों में वैक्सीन की कमी की आशंका - रिपोर्ट

by GoNews Desk 1 month ago Views 2007

There is a possibility of vaccine shortage in 60 c
कोविड वैक्सीन के निष्पक्ष वितरण के लिए शुरु किए गए संयुक्त राष्ट्र समर्थित कार्यक्रम ‘कोवैक्स’ को मिलने वाली वैक्सीन की आपूर्ति बाधित हो रही है। इससे दुनिया के ग़रीब देशों समेत कम से कम 60 देशों में वैक्सीनेशन प्रभावित होने की आशंका है। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ पिछले दो सप्ताह में 92 विकासशील देशों में वैक्सीन की आपूर्ति के लिए 20 लाख वैक्सीन की मंज़ूरी दी गई थी। जबकि अकेले ब्रिटेन में ही इतने खुराक की आपूर्ति की गई है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ डॉक्टर टेड्रोस घेब्रेयेसस ने वैक्सीन के वैश्विक वितरण को लेकर आलोचना भी की थी। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि अमीर देशों में औसतन हर चार में एक शख्स को वैक्सीन लगाया जा चुका है। जबकि कम आय वाले देशों में वैक्सीनेशन के हालात बुरे हैं। उन्होंने बताया कि ग़रीब देशों में 500 लोगों में महज़ एक शख्स को ही वैक्सीन लगाया जा सका है। 


हाल ही में भारत ने एस्ट्रा़ज़ेनेका की वैक्सीन के निर्यात पर रोक लगाने का फैसला किया है। यही वजह है कि वैश्विक स्तर पर वैक्सीन की किल्लत देखी जा रही है। कोवैक्स कार्यक्रम के माध्यम से जिन देशों में पहले वैक्सीन की आपूर्ति की गई थी, उन देशों में अगले 12 सप्ताह के भीतर वैक्सीन की दूसरी खेप पहुंचाई जानी है। लेकिन ऐसा संभव हो पाएगा या नहीं, इसपर आशंका बरक़रार है।

वैश्विक स्तर पर वैक्सीन की आपूर्ति करने वाले संगठन ‘गावी’ ने बताया कि वैक्सीन की आपूर्ति में आई कमी से 60 देश प्रभावित हुए हैं। ग्लोबल न्यूज़ एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस के हवाले से पीटीआई ने बताया है कि वैक्सीन की आपूर्ति में आई अनिश्चितता से कुछ देशों का विश्व स्वास्थ्य संगठन या डब्ल्यूएचओ से विश्वास उठने लगा है। बताया गया है कि डब्ल्यूएचओ पर रूस और चीन की वैक्सीन के इस्तेमाल करने का दबाव बढ़ रहा है। 

ग़ौरतलब है कि अमेरिका या किसी भी यूरोपीय देशों के नियामक ने रूस और चीन की वैक्सीन को मान्यता नहीं दी है।

ताज़ा वीडियो