पंजाब के बाद महाराष्ट्र में भी कर्फ्यू, मेडिकल स्टाफ के बचाव के लिए ICMR ने दवा सुझाई

by Rahul Gautam 2 months ago Views 2139
Task force suggests drugs to avoid curfew, corona
कोरोना का खौफ पूरे देश को अपनी ज़द में ले चुका है। इस बीच इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च की ओर से गठित टास्क फोर्स कोविड-19 से संक्रमित मरीज़ों की देखभाल कर रहे पैरामेडिकल स्टाफ के लिए हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा सुझाई है. टास्क फोर्स ने यह भी साफ किया है कि यह दवा कोरोना से बचने के लिए है नाकि इसके इलाज में काम आ सकती है. 

आईसीएमआर ने यह भी बताया कि देशभर में 12 प्रयोगशालाओं को कोविड-19 के ख़िलाफ जारी लड़ाई के लिए रजिस्टर किया गया है. इन प्रयोगशालाओं के देश में 12 हज़ार कलेक्शन सेंटर हैं जहां से सैंपल जुटाए जा सकते हैं. 

Also Read: कोरोना वायरस के कारण शहरों में लॉकडाउन, कैसे हैं हालात ?

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक फिलहाल देश में मरीज़ों की संख्या 415 पहुंच चुकी है और आठ लोगों की मौत हो चुकी है. आठवीं मौत पश्चिम बंगाल में हुई. यह शख़्स हाल ही में इटली से लौटा था. 

फिलहाल 19 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पूरी तरह से बंद किया जा चुका है। पंजाब और महाराष्ट्र में पूरी तरह कर्फ्यू लगा दिया गया है. 24 मार्च की आधी रात से घरेलू उड़ानों की सेवा भी रोक दी गई है. बस, ट्रेन, मेट्रो की सेवा पहले ही रोकी जा चुकी है.