कोरोना वायरस और कच्चे तेल के टूटते दामों के कारण शेयर बाज़ार धड़ाम

by Rahul Gautam 2 months ago Views 1323
Stock market collapse due to falling crude oil pri
देश में पैदा हुए बैंकिंग संकट और दुनियाभर में कोरोना वायरस को लेकर मची उथल-पुथल से स्टॉक बाजार सोमवार को औंधे मुँह गिर गया। भारत समेत दुनियाभर के शेयर बाजारों में भारी गिरावट देखने को मिल रही है। सेंसेक्स में जहा 1,941 अंको की गिरावट दर्ज़ हुई, वही निफ्टी 538 अंको निचे गिरा। एक अनुमान के मुताबिक सोमवार को दर्ज़ हुई गिरावट से निवेशकों के 7 लाख करोड़ रुपए स्वाहा हो गए। 

पहले पीएमसी और अब येस बैंक में सामने आई गड़बड़ियों से बैंकिंग व्यवस्था में भरोसा डिगा है। साथ ही दुनिया में 100 से ज्यादा मुल्को में पहुंच चुके कोरोना वायरस से आर्थिक गतिविधिया कमजोर हुई है। इन्ही वजहों से सोमवार को सेंसेक्स 2,300 अंक तक लुढ़क गया। बाद में थोड़ा संभल 1,941 पॉइंट्स की गिरावट के साथ 35,634 पर बंद हुआ। यानि 5.17 फीसदी की बड़ी गिरावट।    

Also Read: दक्षिण अफ्रीका सीरीज के लिए भारतीय टीम की घोषणा

यही हाल निफ्टी का था जहां 538 प्वाइंट्स की गिरावट दर्ज हुई और वो 10,451 पर बंद हुआ। यानि 4.90 फीसदी की गिरावट। एक अनुमान के मुताबिक सोमवार को बाज़ारो में दर्ज़ हुई गिरावट से निवेशकों के 7 लाख करोड़ रुपए स्वाहा हो गए।

कोराना वायरस के चलते पिछले कई दिनों से भारत समेत दुनियाभर के शेयर बाजारों गोते खा रहे हैं और इसमें गिरावट देखने को मिल रही है। बात भारत की करें तो सोमवार को एक बार फिर सुबह बाज़ार खुलते ही शेयर बाज़ार में भारी गिरावट देखने को मिली। जानकारों की मानें तो शेयर बाजार में ये गिरावट कोरोना वायरस के अंतरराष्ट्रीय असर, यस बैंक के फ़ेल होने और कच्चे तेल में कीमतों में ज़बरदस्त गिरावट के चलते हुए।

वीडियो देखिये

ओएनजीसी के शेयर 16 फीसदी तक लुढ़का और अपने अपने 15 साल पुराने लेवल पर हैं। वही रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसी बड़ी कंपनी के शेयर 12 फीसदी तक निचे चले गए। बता दे, दुनिया में तेल के दाम बीस साल के निचले स्तर पर पहुंच गए हैं। दुनिया की अर्थव्यवस्था धीमी पड़ने से तेल की खपत कम होगी।इसके अलावा सोमवार को बैंकिंग, एफएमसीजी और ऑटो शेयर्स में गिरावट देखी गयी।