ads

किसान आंदोलन में शामिल सिख संत ने की खुदकुशी, विपक्षी दलों ने सरकार को ठहराया ज़िम्मेदार

by Ankush Choubey 4 months ago Views 1060

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह और अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बदाल ने भी संत बाबा राम सिंह की मौत पर दुःख जताते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

Sikh saint involved in farmer movement commits sui
दिल्ली बॉर्डर पर नए कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ किसानों का आंदोलन 22वें दिन भी जारी है। इस बीच बुधवार की देर शाम सिंघु बार्डर पर किसानों के धरने में शामिल संत बाबा राम सिंह ने खुद को गोली मार ली। इसके बाद उन्हें आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बाबा राम सिंह करनाल के रहने वाले थे और उनका एक सुसाइड नोट भी सामने आया है।

सुसाइड नोट के मुताबिक, संत बाबा राम सिंह ने किसानों पर सरकार के जुल्म के खिलाफ आत्महत्या की है। बाबा राम सिंह किसान थे और हरियाणा एसजीपीसी के नेता थे। संत बाबा राम सिंह ने सुसाइड नोट में लिखा है कि किसानों का दुख देखा। वो अपना हक लेने के लिए सड़कों पर हैं। लेकिन सरकार न्याय नहीं दे रही। संत बाबा राम सिंह आगे लिखते हैं कि किसी ने किसानों के हक में और जुल्म के खिलाफ कुछ नहीं किया। वहीं 26 नवंबर से शुरु हुए किसान आंदोलन में संत बाबा राम सिंह को मिलाकर अब तक कुल 21 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं।


संत बाबा राम सिंह की मौत पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दुख जताया है। राहुल गाँधी ने ट्वीट किया- करनाल के संत बाबा राम सिंह जी ने कुंडली बॉर्डर पर किसानों की दुर्दशा देखकर आत्महत्या कर ली। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएँ और श्रद्धांजलि। कई किसान अपने जीवन की आहुति दे चुके हैं। मोदी सरकार की क्रूरता हर हद पार कर चुकी है। ज़िद छोड़ो और तुरंत कृषि विरोधी क़ानून वापस लो!

एनडीए की पूर्व सहयोगी शिरोमणि अकाली दल की नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने ट्वीट किया- केंद्र सरकार यहां तक जिद्दी बनी हुई है और किसानों की पीड़ा को नकार रही है। बाबा राम सिंह जी सिंघरा वाले ने कुंडली सीमा पर अपने आसपास के लोगों के कष्टों को देखने में असमर्थ होने के बाद आत्महत्या कर ली है। आशा है कि केंद्र सरकार इस त्रासदी के बाद जागेगी और इससे पहले कि बहुत देर हो जाए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेगी।

वहीं पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह और अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बदाल ने भी संत बाबा राम सिंह की मौत पर दुःख जताते हुए केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

ताज़ा वीडियो