शोपियां: पांच दिन बाद किडनैप जवान के खून के धब्बे लगे कपड़े मिले

by Shahnawaz Malik 2 years ago Views 2777

Shopian: Five days later Kidnap Jawan's blood stai
कश्मीर घाटी के शोपियां से 2 अगस्त की शाम एक जवान शाकिर मंज़ूर लापता हो गए थे. पांच दिन उनके घरवालों ने नज़दीक के एक बाग़ीचे से शाकिर के कपड़े ढूंढ निकाले हैं. शाकिर के कपड़ों पर खून के निशान हैं. शाकिर के घरवालों ने चरमपंथियों से अपील की है कि अगर उनकी हत्या कर दी गई है तो कम से कम लाश उन्हें सौंप दी जाए. यह उनका अधिकार है.

शाकिर मंज़ूर टेरिटोरियल आर्मी के जवान हैं और सेना के बालपोरा कैंप में तैनात थे. अगस्त को वो छुट्टी लेकर घर पहुंचे थे. कुछ घंटे घर पर रहने के बाद शाकिर अपनी कार लेकर बाहर निकले और लौटकर नहीं आए. थोड़ी देर उन्होंने अपने घर फोन किया था और वो अपने किडनैप हो जाने का इशारा कर रहे थे.


उसी शाम शाकिर की जली हुई कार उनके घर से 16 किलोमीटर दूर बरामद हो गई लेकिन उनका पता नहीं चला. इसकी इत्तेला स्थानीय पुलिस, पैरामिलिट्री और सेना को दी गई, तबसे उनकी तलाशी का अभियान चल रहा है. अब शुक्रवार को शाकिर के पिता मंज़ूर अहमद ने उनके खून के धब्बों वाले कपड़ों को ढूंढ लिया है लेकिन शाकिर अभी तक लापता है. मंज़ूर अहमद ने कहा है कि अगर उनके बेटे को मार दिया गया है तो कम से कम उसकी लाश घरवालों को सौंप दी जाए.

केंद्र सरकार और जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने बार-बार दावा किया है कि अनुच्छेद 370 ख़त्म किए जाने के बाद घाटी में चरमपंथ और हिंसा में कमी आई है लेकिन यह दावा सच्चाई से कोसो दूर है. हाल ही में चरमपंथियों ने केंद्र में अलग-अलग पार्टी के स्थानीयों नेताओं और सुरक्षा में लगे जवानों को निशाना बनाया है.

ताज़ा वीडियो