एसबीआई ने अपना एनपीए का आंकड़ा छुपाया, 12 हज़ार करोड़ कम दिखाया: आरबीआई

by Rahul Gautam 5 months ago Views 838
SBI UNDER-REPORTS RS 12,000 CRORE BAD LOANS
आरबीआई ने कहा है कि देश के सबसे बड़े बैंक, एसबीआई ने साल 2018-19 में अपने नॉन परफार्मिंग असेस्ट्स यानी एनपीए को लगभग 12 हज़ार करोड़ कम दिखाया है । इसके अलावा प्रोविशनिंग को भी करीब 12 हज़ार करोड़ कम करके दिखाया गया है। आपको बता दे इस वित्त वर्ष में किसी भी बैंक के द्वारा घोषित ये सबसे बड़ा आंकड़ा है।

आरबीआई के आंकलन के हिसाब से, एसबीआई का सकल एनपीए 1,84,682 करोड़ रुपए है, नाकि 1,72,750 करोड़ रुपए जैसा की एसबीआई ने घोषित किया है। इसके अलावा नेट एनपीए भी 77,827 करोड़ है, नाकि 65,895 करोड़।

Also Read: काबुल से भागकर आए सिख शरणार्थियों ने बताई अपनी कहानी, C(A)B के आने से जश्न में डूबे

इसका सीधा मतलब है, एसबीआई को ये पैसा अपनी बैलेंस शीट पर दिखाना पड़ेगा, जिससे उसका घाटा लगभग 6968 करोड़ रुपए के आस पास आता है।  एसबीआई ने साल 2018-19 में 862 करोड़ रुपए का मुनाफा दर्ज़ किया था। हालांकि, बैंक का कहना है 2019-20 की तीसरी तिमाही में कुल एनपीए का भार 3,143 करोड़ है। उसी तरह 2020-21 की तीसरी तिमाही में ये 4,654 करोड़ रहेगा ।    

आपको बता दे, की साल 2016-17 में ही आरबीआई ने बैंको को निर्देश दिया था की सभी बैंक्स अपने यहाँ एनपीए और उसके घाटे को कैसे पूरा करेंगे इसका पूरा ब्यौरा उसके पास जमा करवाए। इसके साद एसबीआई ने 23,239 करोड़ रुपए के एनपीए के बारे में जानकारी दी थी जोकि देश में सबसे ज्यादा थी।