ads

तमिल नाडु में ससिकला की 2000 करोड़ की संपत्ति जब्त, इनकम टैक्स की टाइमिंग पर पर उठे सवाल

by Rahul Gautam 6 months ago Views 1369

Sasikala's 2000 crore assets seized in Tamil Nadu,
तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की सहयोगी रहीं वीके ससिकला की 2 हजार करोड़ रुपए की संपत्तियां इनकम टैक्स ने बुधवार को जब्त कर ली. बता दे, ये सभी संपत्तियां राज्य के कोडनाड और सिरुतावुर जिलों में हैं. ससिकला को फरवरी, 2017 में आय से अधिक संपत्ति के केस में चार साल की सजा हुई थी। हालाँकि,  इस मामले में पूर्व सीएम जयललिता मुख्य आरोपी थीं, लेकिन उनकी मौत होने की वजह से उन्हें सभी मामलों से बरी कर दिया गया था.

ससिकला फिलहाल बेंगलुरु के प्रपन्ना अग्रहारम जेल में बंद हैं. राइट टू इन्फॉर्मेशन एक्ट के तहत मिली जानकारी के मुताबिक, उन्हें 27 जनवरी को जेल से रिहा किया जा सकता है. हालांकि, रिहाई के लिए उन्हें 10 करोड़ 10 लाख रुपए का जुर्माना भरना होगा. आयकर विभाग के मुताबिक यह कार्रवाई 2017 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार की गई है. हालांकि, यह कार्रवाई इतनी देर से क्यों शुरू की गई, इसको लेकर अब सवाल खड़े होना शुरू हो गए हैं.


लेकिन बताया जा रहा है की एआईएडीएमके ससिकला को पार्टी से दूर ही रखना चाहती है क्योंकि तीन महीने बाद उनकी रिहाई हो सकती और उसी साल तमिलनाडु में विधान सभा के चुनाव भी होने है. बता दे, बुधवार को ही राज्य के उप-मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम ने मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी को राज्य की सत्तारुढ़ एआईडीएमके के मुख्यमंत्री उम्मीदवार के रूप में आधिकारिक घोषणा की थी.

वीके ससिकला ने जेल जाने के बाद उनकी पार्टी और राज्य की राजनीति काफी बदल गई है. जयललिता की मौत के बाद ससिकला ने पार्टी की कमान संभालनी चाही थी और यहां तक कि जेल की सजा होने से पहले तक उन्होंने मुख्यमंत्री पद पाने के लिए भी कई कोशिशें की थीं, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और पलानीस्वामी को मुख्यमंत्री बनाया गया.

एआईएडीएमके की बागडोर संभालने वाली ससिकला पर कई बड़े आरोप लगने के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री पलानीस्वामी के नेतृत्व वाले खेमे ने पार्टी से निकाल दिया था. वीके ससिकला जयललिता की काफी करीबी थी और उनकी मौत के बाद उन्होंने राजनीति में ऊंचा मुक़ाम पाने की कोशिश की थी। लेकिन साल 2017 में ससिकला पर पांच साल तक चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था, जिसके मुताबिक वे अभी और दो साल तक चुनाव नहीं लड़ सकतीं हैं.

ताज़ा वीडियो