ads

किसान आंदोलन से रिलायंस JIO को नुक़सान, पंजाब और हरियाणा में कुल 20 लाख उपभोक्ता घटे

by M. Nuruddin 2 months ago Views 1373

सब्सक्राइबर बेस में आई इस गिरावट पर जियो की तरफ से फिलहाल कोई बयान नहीं आया है....

Reliance Jio losses due to farmer agitation, Punja
कृषि कानूनों के ख़िलाफ़ जारी किसान आंदोलन के बीच हरियाणा और पंजाब में रिलायंस जियो को भारी नुकसान हुआ है। टेलिकॉम रेगुलेटर की रिपोर्ट के मुताबिक़ इन दो राज्यों में जियो के 20 लाख से ज़्यादा सब्सक्राइबर घटे हैं। यानी इन दो राज्यों में जियो के पास पहले 2.34 करोड़ सब्सक्राइबर थे जो गिरकर 2.14 करोड़ रह गये हैं। अंबानी और अदानी के उत्पादों का बहिष्कार करने के लिए किसान नेताओं ने अपील जारी की थी।

रिपोर्ट के मुताबिक़ नवंबर 2020 तक पंजाब में जियो के 1.40 करोड़ यूजर्स थे जो दिसंबर के आख़िर तक गिरकर 1.25 करोड़ पर आ गया है। जियो के सब्सक्राइबर बेस में यह पिछले 18 महीने में सबसे बड़ी गिरावट है। लॉन्चिंग के बाद जियो का सब्सक्राइबर बेस तेज़ी से बढ़ा था लेकिन यह दूसरी बार है जब इसमें गिरावट हो रही है। इससे पहले दिसंबर 2019 में भी कंपनी के यूजर्स घटे थे, लेकिन तब यह नुकसान सिर्फ जियो को ही नहीं बल्कि बीएसएनएल को छोड़ लगभग सभी टेलिकॉम कंपनियों को हुआ था।


आंकड़े देखें तो नवंबर 2020 तक हरियाणा में जियो के 94.48 सब्सक्राइबर थे जो दिसंबर में गिरकर 89.07 लाख रह गए हैं। हालांकि पहली बार है जब हरियाणा में कंपनी के सब्सक्राइबर बेस में गिरावट आई है। सब्सक्राइबर बेस में आई इस गिरावट पर जियो की तरफ से फिलहाल कोई बयान नहीं आया है।

पंजाब-हरियाणा में तोड़े गए थे टॉवर

पंजाब और हरियाणा में आंदोलनकारी किसानों की अपील पर जियो के करीब 1500 टॉवर तोड़ दिए गए थे। जियो टॉवर की बिजली काट दी गई थी। हालांकि बाद में यह रिपोर्ट आई कि जिन टावर्स के साथ तोड़-फोड़ की गई वो पहले ही बेचे जा चुके थे। जियो अपने इन टावर्स को 2020 में ही एक कनाडा की कंपनी को बेच चुका है। जियो इन टावर्स के इस्तेमाल के लिए कनेडियन कंपनी का किराया देता है।

टेलिकॉम सब्सक्राइबर में ओवर ऑल गिरावट

आँकड़े बताते हैं कि दिसंबर महीने में देश का टेलिकॉम सब्सक्राइबर बेस 1,175 मिलियन से गिरकर 1,173 मिलियन रह गया है। इस दौरान वोडाफोन, आइडिया और सरकारी टेलिकॉम कंपनी बीएसएनएल और एमटीएनएल के सब्सक्राइबर बेस घटे हैं। एयरटेल और रिलायंस जियो ही मात्र कंपनियां रहीं जिनका सब्सक्राइबर बेस बढ़ा है।

सबसे ज़्यादा वोडाफोन-आइडिया के 5.69 मिलियन सब्सक्राइबर घटे हैं। इसके अलावा बीएसएनएल के 252,501 और एमटीएनएल के 6,442 सब्सक्राइबर घटे हैं। जबकि जोड़ने वालों में अव्वल भारती एयरटेल रहा जिसने 4 मिलियन नए सब्सक्राइबर जोड़े हैं। इसी दौरान जियो ने 478,917 नए ग्राहकों को जोड़ा।

अब अगर एक्टिव यूज़र की बात करें तो इसमें भी रिलायंत जियो पिछड़ रहा है। एयरटेल के जहां 97.1 फीसदी एक्टिव सब्सक्राइबर हैं, तो वहीं जियो के 80.23 फीसदी सब्सक्राइबर ही एक्टिव हैं जो वोडाफोन-आइडिया के 90.26 फीसदी एक्वि सब्सक्राइबर से भी कम है।

ताज़ा वीडियो