राजस्थान में नागौर में दलित हिंसा मामले में सात गिरफ्तार

by Rahul Gautam 3 months ago Views 1762
Rajasthan: Seven arrested in Dalit violence case i
बीजेपी शासित राज्य उत्तर प्रदेश में दलित समुदाय पर हमले का मामला अभी थमा भी नहीं था कि अब कांग्रेस शासित राजस्थान में दो दलितों की बेरहमी से पिटाई का वीडियो वायरल हो गया. इस वारदात के सभी सात आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं लेकिन ऐसी वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही हैं.


उत्तर प्रदेश के कानपुर में दलित हमले की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि राजस्थान के नागौर ज़िले में एक और वारदात सामने आ गई. यहां महज़ 100 रुपए की चोरी का इल्ज़ाम लगाकर दलित समुदाय के दो चचेरे भाइयों की बेरहमी से पिटाई की गई. उनके साथ जानवरों जैसा सलूक करते हुए गुप्तांग में पेट्रोल तक डाले गए. 

Also Read: भारत-पाकिस्तान पर हमले के बाद टिड्डियों के निशाने पर अफ्रीकी देश आए

इस सनसनीखेज़ वारदात का वीडियो वायरल होने के बाद नागौर पुलिस ने सात मुलज़िमों को गिरफ़्तार कर लिया है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि नागौर में दो दलितों के साथ क्रूरता वाला वीडियो भयावह है. उन्होंने पीड़ितों के साथ इंसाफ़ की अपील की है. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दोनों पीड़ित अपनी बाइक सर्विस करवाने ले गए थे. वहीं उनपर 100 रुपए की चोरी का आरोप लगाया, फिर लात-घूसों, बेल्ट और पेचकस से उनकी पिटाई की.  

इसी तरह का मामला उत्तर प्रदेश में कानपुर देहात में भी सामने आया जहां दलित बस्ती पर हमले के बाद 28 लोग बुरी तरह ज़ख़्मी हुए. इनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल हैं. सभी के हाथ, पैर, सिर में पट्टी और प्लास्टर बंधे हैं. इनके बदन पर जगह-जगह लाठी, डंडे के निशान हैं.

वीडियो देखिये

दलितों ने अपने गांव में सात दिनों की भीम कथा का आयोजन किया था और 13 फरवरी को शोभा यात्रा निकाली थी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसी दौरान उनपर राजपूत समुदाय के लोगों ने हमला किया जो हिंसा में बदल गया. कानपुर पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट में मुक़दमा दर्जकर कम से कम 14 लोगों को गिरफ्तार किया है.