दिल्ली में कंटेनमेंट ज़ोन में घर-घर जांच की तैयारी, बेड्स की क्षमता 37000 करने का लक्ष्य

by Ankush Choubey 2 years ago Views 4351

Preparation of door-to-door testing in containment
राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण से बिगड़ते हालात के बाद कंटेनमेंट ज़ोन में घर-घर जाकर ट्रेसिंग और मैपिंग की जाएगी. यह फैसला गृह मंत्री अमित शाह की ओर से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में लिया गया. अब 20 जून तक दिल्ली में हर रोज 18 हजार लोगों की कोरोना जांच होगी. रेलवे 500 नए आइसोलेशन कोच तैयार करेगा. इससे दिल्ली में राज्य सरकार, केंद्र सरकार के अस्पतालों और रेलवे कोच को मिलाकर बेड्स की संख्या 37,000 पहुंच जाएगी.

इस मीटिंग के बाद दिल्ली सरकार ने निजी और सरकारी प्रयोगशालाओं को कोरोना जांच की क्षमता बढ़ाने का आदेश दिया है. अब निजी और सरकारी प्रयोगशालाओं को 48 घंटे के भीतर कोरोना जांच की रिपोर्ट देनी होगी.


आप सांसद संजय सिंह के मुताबिक राज्य सरकार के अस्पताल में 1,900 बेड्स और केंद्र सरकार के अस्पतालों में 2,000 बेड्स की क्षमता बढ़ाई जाएगी. इसके अलावा निजी अस्पतालों में 1,178 बेड्स बढ़ेंगे और 500 रेलवे कोच से 8,000 बेड्स तैयार होंगे. आने वाले दिनों में 500 कोच और लेकर 16,000 बेड्स बढ़ाने की तैयारी शुरु हो गई है.

वीडियो देखिए

 

बैठक में शामिल रहे बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मांग की कि दिल्ली में कोरोना जांच की फ़ीस में 50 फीसदी तक की कटौती की जानी चाहिए. साथ ही, निजी अस्पतालों में कोरोना इलाज के खर्च की सीमा तय करने की मांग की.

वहीं दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने दिल्ली सरकार पर कोरोना के आंकड़े छिपाने का आरोप लगाया. उन्होंने सबूत के तौर पर गृहमंत्री अमित शाह को एक चिट्ठी सौंपी है. अनिल चौधरी ने कोरोना प्रभावित परिवारों और कंटेनमेंट जोन में रहने वाले परिवारों को 10 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की भी मांग की।

दिल्ली में फिलहाल कोरोना संक्रमित मरीज़ों का आंकड़ा 41,182 हो गया है. महाराष्ट्र और तमिलनाडु के बाद सबसे ज़्यादा संक्रमण का असर दिल्ली में ही देखा जा रहा है.

ताज़ा वीडियो