वैट बढ़ाने से पंजाब में पेट्रोल पंप कारोबारियों की हड़ताल, एक ने ख़ुदकुशी की

by M. Nuruddin 1 year ago Views 2855

Petrol pump traders strike in Punjab due to increa
पंजाब में पेट्रोल-डीज़ल पर वैट के चलते राज्य के पेट्रोल पंप डीलर्स हड़ताल कर रहे हैं. इंडियन ऑयल कारपोरेशन लिमिटेड, भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड के पंप पेट्रोल-डीजल की बिक्री नहीं कर रहे हैं। हड़ताल को कामयाब बनाने के लिए एसोसिएशन पांच-छह अधिकारियों की टीमें बनाकर राज्य के अलग-अलग हिस्सों में भेजा है.

राज्य के एक पेट्रोल पंप डीलर राजकुमार ने बताया कि पड़ोसी राज्य हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और चंडीगढ़ में पंजाब के मुक़ाबले पेट्रोल-डीज़ल की कीमत पांच रूपये सस्ता है. उन्होंने बताया कि पंजाब में टैक्स में बढ़ोत्तरी की वजह से पेट्रोल-डीज़ल के दाम आसमान छू रहे हैं. एक कारोबारी जीएस चावला जी ने इसी का विरोध करते हुए आत्महत्या कर ली.


पेट्रोल पंप एसोसिशन मोहाली ने पेट्रोल पंप के मालिक जीएस चावला की आत्महत्या मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है. 76 साल के चावला की लाश पंचकूला के एक होटल से बरामद हुई थी। उन्होंने अपने सुसाइड नोट में लिखा था कि चंडीगढ़ और पंजाब में ईंधन पर वैट की असमानता के चलते दिवालिया हो गए थे.

पंजाब सरकार ने पिछले दो महीनों में पेट्रोल पर 6.32 फीसदी और डीज़ल पर 4.18 फीसदी वैट की बढ़ोत्तरी की है। इसके बाद जहां पेट्रोल पर 20.11 फीसदी वैट टैक्स लगता था वो अब 26.43 फीसदी लग रहा है। वहीं डीज़ल पर 15.15 फीसदी लगने वाला टैक्स अब 15.98 फीसदी तक बढ़ गया है.

आंकड़े बताते हैं कि चंडीगढ़ में पेट्रोल 5.02 रुपये प्रति लीटर, हरियाणा में 4.43 रुपये प्रति लीटर और हिमाचल प्रदेश में 4.75 रुपये प्रति लीटर सस्ता है. वहीं चंडीगढ़ में डीजल 2.70 रुपये प्रति लीटर, हरियाणा में 2.51 रुपये प्रति लीटर और हिमाचल प्रदेश में 3.86 रुपये प्रति लीटर सस्ता है।

पेट्रोल पंप डीलर एसोसिएशन का कहना है कि इस असमानता की वजह से सीमावर्ती ज़िलों में पेट्रोल पंपों को 80 फीसदी तक का नुकसान हो रहा है। जबकि राज्य सरकार ने बढ़ाए गए टैक्स को वापस लेने से इंकार कर दिया है।

ताज़ा वीडियो