संक्रमण की तीसरी लहर की आहट के बीच 'Travel plan' बना रहे लोग

by GoNews Desk 11 months ago Views 2318

भारत में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लोगों ने अपने ट्रैवल प्लान रद्द कर दिए थे लेकिन अब एक ओर जहां विशेषज्ञ बार बार संक्रमण की तीसरी लहर की चेतावनी दे रहे हैं वहीं भारतीय नागरिक घूमने की योजना बना रहे हैं। इससे देश में तीसरी लहर की संभावना और बढ़ गई है। 

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म सोशलसर्कल्स के मुताबिक 28 प्रतिशत भारतीय नागरिक अगस्त-सितंबर के बीच यात्रा करने की योजना बना रहे हैं हालांकि इनमें से सिर्फ पांच फीसदी लोगों ने ही बुकिंग कराई है। प्लेटफॉर्म ने संभावित तीसरी लहर के जोखिम का पता लगाने के लिए लोगों की यात्रा योजना से जुड़ा एक सर्वे किया। इसमें देश के 311 जिलों से 18,000 लोगों को शामिल किया गया था। सर्वे में शामिल 68 प्रतिशत पुरूष थे जबकि अन्य महिलाएं थी। 

सर्वे में बताया गया कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान लोगों को अपनी बुकिंग कैंसल करने में परेशानी आई थी। कई लोगों को बुकिंग के बदले कोई रिफंड नहीं मिला जबकि कुछ लोग टिकट का पार्शियल अमाउंट हासिल करने में कामयाब रहे। 

सर्वे के मुताबिक ट्रैवल प्लान के बारे में पूछे जाने पर 9,146 रिसपोंडेट में से 63 प्रतिशत लोगों का कहना था कि उनका आने वाले दो महीनों में कही भी यात्रा का प्लान नहीं है। 5 फीसदी लोगों का कहना था कि उनका घूमने का प्लान है और इसके लिए उन्होंने टिकट भी बुक कर लिए हैं। वहीं 23 फीसदी लोगों ने इसके जवाब में कहा कि उनका अगस्त-सितंबर में घूमने का प्लान है लेकिन इसके लिए कोई बुकिंग नहीं की है जबकि 9 प्रतिशत लोग इस बारे में कोई मत नहीं दे पाए। 

वह लोग जो इन दो महीनों में यात्रा की योजना बना रहे हैं उनमें से 50 फीसदी से अधिक अपने परिवार और दोस्तों से मिलने जा रहे हैं। देश में आने वाले दो महीनों में कई त्योहारों की छुट्टियां होंगी। लोग इन छुट्टियों को वीकेंड हॉलिडे में बदलना चाहते हैं। 

बता दें कि घूमने का प्लान बना रहे 13 फीसदी लोगों का कहना था कि वह(1) छुट्टियां मनाने जा रहे हैं जबकि 39 फीसदी लोगों का कहना है कि वह (2)परिवार और दोस्तों से मिलने जा रहे हैं जबकि 22 प्रतिशत लोगों ने (3) 'अदर ट्रैवल' का विकल्प चुना।

इसके अलावा 7 फीसदी लोगों ने 1और2 विकल्प चुने, 2  फीसदी लोगों ने 1और 3, 4 प्रतिशत लोगों ने तीनों जबकि 4 फीसदी लोगों ने 2 और 3 विकल्प चुने। वहीं 9 प्रतिशत लोगों ने कोई राय नहीं दी।

समूचे तौर पर देखा जाए 9,134 लोगों में से 54 प्रतिशत लोग अगस्त और सितंबर के महीने में अपने परिवार और दोस्तों से मिलने की योजना बना रहे हैं, 26 फीसदी लोग हॉलिडे डेस्टिनेशंस जबकि 32 फीसदी लोगों की दूसरी यात्राएं करने की योजना में हैं। 

लोकलसर्कल्स की रिपोर्ट के अनुसार 12 अप्रैल को भी ऐसा ही एक सर्वे किया गया था। यह वह समय था जब देश में संक्रमण की दूसरी लहर की आहट हो रही थी। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के मुताबिक उसके सर्वे के अनुसार 25 फीसदी लोग ट्रैवल प्लान बना रहे थे।

रिपोर्ट में दावा किया गया कि लोकलसर्कल्स ने अपने सर्वे के परिणामों से आगाह करते हुए राज्य और केंद्र सरकारों को तुरंत लॉकडाउन लगाने की सलाह दी हालांकि कुछ राज्यों के देरी करने से देश में संक्रमण की गंभीर स्थिति बनी।

ताज़ा वीडियो