ads

बीजेपी के मुफ्त वैक्सीन के वादे पर उद्धव ठाकरे बोले- क्या देश के बाक़ी राज्य बांग्लादेश या पाकिस्तान में हैं?

by Ankush Choubey 5 months ago Views 826

On BJP's promise of free vaccine, Uddhav Thackeray
रविवार को शिवसेना की दशहरा रैली के मौक़े पर पार्टी अध्यक्ष और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे पीएम मोदी, संघ प्रमुख मोहन भगवत और बिहार में बीजेपी द्वारा जारी किये गए घोषणा पत्र को लेकर जमकर बरसे. उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी ने बिहार के अपने घोषणा पत्र में सरकार बनने पर मुफ़्त में वैक्सीन देने का वादा किया है. इस पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि बीजेपी को शर्म आनी चाहिए.

उद्धव ने कहा कि बीजेपी की केंद्र में सरकार की ज़िम्मेदारी है कि सभी का ध्यान रखे. ऐसे में सवाल ये है कि क्या देश के बाक़ी राज्य क्या बांग्लादेश में हैं या क्या पाकिस्तान में हैं. उद्धव ठाकरे ने कहा कि बिहार की जनता से चुनाव में मतदान सोच समझकर करने की अपील की है. लेकिन इशारों इशारों मे उद्धव ये बताना नहीं भूले कि बीजेपी की चाल क्या है? बीजेपी नेता कह रहे हैं कि बीजेपी की ज़्यादा सीटें आई तो भी नीतीश ही सीएम होंगे. बीजेपी ऐसी चाल चलती रहती है. लोगों को सावधान रहने की जरुरत है.


केंद्र सरकार और पीएम मोदी पर निशाना सधता हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि देश संकट में है और बीजेपी राजनीति कर रही है. देश किसी के ‘बाप की जागीर’ नहीं है. जीएसटी को रद्द कर देना चाहिए. महाराष्ट्र का जीएसटी बकाया 38 हज़ार करोड़ है जो केंद्र ने अभी तक नहीं लौटाया है. महाराष्ट्र जैसे हालात दूसरे राज्यों के भी हैं. केंद्र सरकार को अपने शब्दों को का मान रखना चाहिए. जीएसटी की प्रणाली का सबसे पहले शिवसेना ने ही विरोध किया था.

सीएम उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी का नाम ना लिए बिना, संघ प्रमुख मोहन भागवत के भाषण का ज़िक्र करते हुए हिंदुत्व पर सवाल उठाने वालों पर जमकर हमला बोला है. उद्धव ने कहा कि शिवसेना और बालासाहब का  हिंदुत्व ‘थाली बजाने वाला’ हिंदुत्व नहीं है. आरएसएस प्रमुख के भाषण का ज़िक्र करते हुए उद्धव ठाकरे बोले कि मोहन भागवत ने कहा कि हिंदुत्व को पूजा से जोड़कर संकुचित किया गया है. मंदिर नहीं खोला तो सेक्युलर, यह बोलने वाले लोग जो काली टोपी पहनते हैं, उनकी टोपी के नीचे अगर दिमाग है तो उन्हें संघ संचालक का भाषण सुनना चाहिए. यह लोग हमारे हिंदुत्व पर सवाल उठा रहे हैं.

दरअसल, महाराष्ट्र में कोविड के चलते मंदिर खोलने को लेकर महाराष्ट्र सरकार ने अब तक इजाजद नहीं दी है. इसे लेकर पिछले दिनों राज्यपाल कोशियारी ने सीएम उद्धव को पत्र लिखकर उनके हिंदुत्व पर सवाल पूछा था.

साथ ही सीएम उद्धव ठाकरे ने सुशांत मामले में पहली बार चुप्पी तोड़ी और कंगना रणौत पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि  कुछ लोग यहां रोजी रोटी की तलाश में आते हैं और बाद में इस शहर को पीओके बताते हैं. बेटे आदित्य ठाकरे पर लग रहे आरोपों पर चुप्पी तोड़ते हुए ठाकरे ने कहा, जो लोग बिहार के बेटे को न्याय दिलाने की गुहार लगा रहे हैं वे महाराष्ट्र के बेटे के चरित्र की हत्या में शामिल हैं.

ताज़ा वीडियो