कोरोनावायरस का ख़ौफ बना बड़ी चुनौती

by Abhishek Kaushik 3 months ago Views 2776
Not only coronavirus, fear is also killing
पूरे विश्व में फ़ैली कोरोना वायरस की महामारी से अब तक क़रीब आठ लाख़ से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके है. वही 40 हज़ार से ज्यादा लोगों की इससे मौत हो चुकी है. वहीं भारत में इसका आंकड़ा एक हज़ार 650 के करीब पहुंच गया है और मरने वालों की संख्या 40 से ज्यादा पहुंच गयी है. 

लेकिन सिर्फ कोरोना वायरस ही नहीं बल्कि लोगों में इसका डर भी उनकी जान ले रहा है. लोगों के बीच इसको लेकर डर का एक ऐसा माहौल बन गया है की कुछ लोगों ने इसके बारे में सोच सोच कर आत्महत्या तक कर ली. इसका सबसे पहला मामला दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल से आया जहां एक व्यक्ति ने कोरोना संक्रमित होने के डर से अस्पताल की सातवीं मंज़िल से कूद कर अपनी जान दे दी. 

Also Read: कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में हॉकी इंडिया और अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ ने दिया दान

वैसे ही कर्नाटक में 2 लोगों ने संक्रमित होने के डर से ख़ुदकुशी की. इसी तरह मथुरा, दिल्ली, हापुड़, देओरियाँ और छत्तीसगढ़ से आत्महत्या के मामले सामने आए. वहीँ हज़ारों मजदूरों ने इससे पैदा हुए डर और काम न होने के कारण भूख़ से मरने के डर से पलायन किया. 

रिपोर्ट्स का ये भी कहना है की लोगों में इसके आने के बाद तनाव और डर से मानसिक हालत के ख़राब होने का खतरा है. ऐसा होने का कारण ज्यादा सोचना, ज्यादा न्यूज़ देखना, क्वारंटाइन से अकेला महसूस करना इत्यादि भी दिक्कतें पैदा कर रही है. यहाँ तक की विश्व स्वास्थ्य संघठन ने भी लगातार लोगों में जागरूकता फैलाई की लोग ज्यादा न सोचे, अपने मन को शांत रखे, खुश रहने की कोशिश करें, खबरे ज्यादा न देखे, फेक न्यूज़ से बचे इत्यादि. 

देश में इसको लेकर सोशल मीडिया पर बहुत गलत खबरें है और इस बीमारी को एक भयावह रूप दे दिया गया है. हालाँकि ये भी कहना गलत नहीं होगा की इसकी कोई दवाई न आने के कारण इसका डर ज्यादा है लेकिन इस बीमारी से बचने के भी रास्ते है और ऐसे समय में हिम्मत बनाए रखना और दुसरो का मनोबल बढ़ाना बहुत ज़रूरी है जिससे देश इस बीमारी से लड़ सके.