ads

नया नियम- सोशल मीडिया पर 'आपत्तिजनक कंटेंट' वायरल करने वालों की देनी होगी जानकारी

by GoNews Desk 2 months ago Views 1330

New rule - 'You have to give information to those
केन्द्र की मोदी सरकार ने मीडिय, डिजिटल न्यूज़ मीडिया और ओटीटी प्लेटफॉर्म्स के लिए नए नियम बनाए हैं। कैबिनेट मंत्री रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जाड़ेकर ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस कर इसकी जानकारी दी। मीडिया, स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म विशेष तौर पर ओटीटी प्लेटफॉर्म्स समेत सोशल मीडिया के लिए कोड ऑफ एथिक्स और सेल्फ रेगुलेशन के बारे में बताया गया है।

आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अपने बिज़नेस के लिए देश में सोशल मीडिया प्लेफॉर्म्स का स्वागत है लेकिन सिविलाइज़्ड एग्ज़िस्टेंस की अपनी गरिमा को उन्हें कम नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘सरकार आलोचना और असंतोष के अधिकार का स्वागत करती है लेकिन सोशल मीडिया यूज़र्स के पास इसके दुरुपयोग के ख़िलाफ़ अपनी शिकायत करने के लिए भी एक मंच होना बहुत ज़रूरी है।’


फेक न्यूज़ और सोशल मीडिया कंटेंट के दुरुपयोग का हवाला देते हुए उन्होंने सोशल मीडिया के लिए कई नियम बनाए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार सोशल मीडिया को नियमों को लागू करने के लिए तीन महीने का वक्त देगी और कैबिनेट इसपर जल्द नोटिफिकेशन जारी करेगी। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि अगर सोशल मीडिया पर कुछ ‘आपत्तिजनक कंटेंट’ वायरल होता है तो प्लेटफॉर्म को इस बात की जानकारी देनी होगी कि उसे शुरु किसने किया और कहां से शुरु हुआ। हालांकि ऐसा सिर्फ भारत की अखंडता और संप्रभुता के संबंध में ही किया जाएगा।’ 

उन्होंने कहा कि 'भारत की संप्रभुता, सुरक्षा और बालात्कार से संबंधित पोस्ट को हटाया जाना चाहिए।’ आईटी मंत्री ने यह भी कहा कि, ‘अगर कोई सोशल मीडिया साइट्स यूज़र के पोस्ट को हटाता है तो आपको इसकी वजह बतानी होगी।’ इनके लिए रविशंकर प्रसाद के मुताबिक़ महिलाओं की गरिमा से संबंधित पोस्ट 24 घंटे के भीतर हटाने का आदेश दिया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि ‘आपराधिक आतंकवादियों द्वारा सोशल मीडिया का इस्तेमाल भारत में तबाही मचाने के लिए किया जा रहा है।’

प्रेस कांफ्रेंस में केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि ओटीटी के लिए तीन-स्तरीय प्लेटफॉर्म होगा। इस सेल्फ रेगुलेशन बॉडी की अध्यक्षता रिटायर्ड जज या कोई प्रतिष्ठित शख्स करेंगे। यह एक सेल्फ रेगुलेटेड बॉडी होगी और स्वतंत्र रूप से काम करेगा। उन्होंने कहा कि मीडिया की स्वतंत्रता तय है लेकिन कुछ प्रतिबंधों के साथ। उन्होंने कहा कि ओटीटी प्लेटफॉर्म में तीन 13+, 16+ और ‘ए’ कैटगरी होंगी। इसके साथ ही एक पेरेंटल लॉक की सुविधा भी देनी होगी। 

ताज़ा वीडियो