‘तीस साल में मुंबई का सफ़ाया हो जाएगा’ यूनाइटेड नेशन की जलवायु परिवर्तन पर चेतावनी

by M. Nuruddin 2 years ago Views 2703

'Mumbai will be wiped out in thirty years' United
जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्र के बढ़ते जलस्तर पर युनाइटेड नेशन के सेक्रेटरी जनरल एंटेनियो गुटरेस ने चिंता ज़ाहिर की है। उन्होंने कहा कि जिन देशों में जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्र का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है उनमें भारत भी शामिल है और इससे होने वाली समस्याओं से निपटने के मामले में भारत सबसे पीछे है।

गुटरेस ने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि जलवायु परिवर्तन के कारण समुद्र का जलस्तर काफी तेज़ी से बढ़ रहा है। यदि कुछ देशों ने अपने कामकाज के तरीके में बदलाव नहीं किया तो 2050 तक 30 करोड़ लोग बाढ़ से प्रभावित हो सकते हैं।


उन्होंने कहा कि इस प्रकार की समस्याओं से निपटने के लिये दक्षिण-पूर्वी एशिया के देश सबसे कमज़ोर हैं। जिसमें जापान, चीन, बांग्लादेश और भारत शामिल हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक जलवायु  परिवर्तन के कारण आने वाले 30 सालों में समुद्र का बढ़ता जलस्तर दुनिया के कई तटीय शहरों का सफाया कर देगा जिसमें भारत का मुंबई शहर भी शामिल है।

गुटरेस ने कहा कि ये पूरी तौर पर स्पष्ट है कि जलवायु परिवर्तन में तेजी से बदलाव हो रहे हैं लेकिन मानव जाति के लिये ये आने वाले समय में सबसे बड़ा खतरा है। उन्होंने कहा कि यूनाइटेड नेशन इस पर विचार कर रहा है दुनिया भर की बिजनेस कम्युनिटी, सिविल सोसाइटी और सरकारों का ध्यान इस तरफ खींचा जाना चाहिये और इन समस्याओं से निपटने के लिये बात-चीत की जानी चाहिये।

गुटरेस ने कहा कि इन समस्याओं से बचने के लिये हमें 2050 तक कार्बन न्यूट्रल होने की ज़रूरत है और आने वाले सालों में उत्सर्जन को 45 फीसदी कम करने की ज़रूरत है। गुटरेस ने सख्ती से कहा कि कोयले के इस्तेमाल पर सभी देशों को एकजुट होना पड़ेगा और कोयले के इस्तेमाल पर रोक लगानी होगी।

ताज़ा वीडियो