ads

दिल्ली समेत कई शहरों में मेट्रो सेवा शुरू, डीएमआरसी ने गाइडलाइंस जारी की

by Ankush Choubey 8 months ago Views 1202

Metro service started in many cities including Del
कोरोना महामारी के चलते पिछले पांच महीने से बंद पड़ी दिल्‍ली मेट्रो की सेवा 7 सितंबर से फिर शुरू होने जा रही है. डीएमआरसी ने दिल्ली मेट्रो को तीन चरणों में पूरी तरह खोलने की तैयारी में है. इसके लिए दिल्ली मेट्रो ने बाकायदा गाइडलाइन जारी की है.

इसमें एक गेट से एंट्री होगी और बिना कोरोना के लक्षणों वाले लोगों को ही एंट्री मिलेगी. इसके अलावा मास्‍क और फिजिकल डिस्टन्सिंग को लेकर कड़ी निगरानी की जाएगी. डीएमआरसी ने यह भी कहा है कि इस दौरान टोकन नहीं मिलेंगे, सिर्फ स्‍मार्ट कार्ड चलेगा.


पहले चरण में 7 सितंबर से येलो लाइन यानी समयपुर बदली से हुडा सिटी सेंटर और गुरुग्राम रैपिड मेट्रो का सुबह 7 बजे ऑपरेशन शुरू किया जाएगा. लेकिन इस दौरान येलो लाइन पर सिर्फ सुबह 7 बजे से 11 बजे और शाम के पीक ऑवर्स यानी 4 से 8 बजे के दौरान ही मेट्रो चल चलेगी.

9 सितम्बर से ब्लू लाइन द्वारका सेक्टर 21 से इलेक्ट्रॉनिक सिटी सेंटर और वैशाली तक जाएगी. जबकि इसी दिन से पिंक लाइन मजलिस पार्क से शिव विहार रूट पर भी मेट्रो सुबह सात बजे से शुरू होगी. वहीं 10 सितम्बर से रेड लाइन पर भी मेट्रो सुबह 7 बजे से चलनी शुरू हो जाएगी. हालांकि इन सभी लाइनों पर मेट्रो सिर्फ सुबह 7 से 11 बजे तक और शाम को 4 से 8 बजे तक ही चलेगी.

वहीं दूसरे चरण में जनकपुरी वेस्ट से बोटैनिकल गार्डन तक वाली मैजंटा लाइन और द्वारका से नजफगढ़ वाली ग्रे लाइन शुरू कर दी जाएगी.

तीसरे और आखिरी चरण में 12 सितंबर से सभी लाइनों पर मेट्रो की सर्विस को सामान्य रूप से और पूरी तरह बहाल करने की कोशिश की जाएगी. उस दिन से एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन भी शुरू हो जाएगी और सभी लाइनों पर मेट्रो अपनी पहले की सामान्य टाइमिंग के अनुसार सुबह 6 बजे से रात 11 बजे तक चलने चलेगी.

शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव दुर्गाशंकर मिश्र के अनुसार, शुरू में मेट्रो की फ्रीक्‍वेंसी 5 से 7 मिनट के बीच रहेगी जबकि पहले ढाई मिनट में मेट्रो आ जाती थी. इसकी पीछे यह वजह है कि कोरोना के संकट के कारण अब हर ट्रिप के बाद पूरी ट्रेन को सैनिटाइज किया जायेगा. नए नियमों के मुताबिक कंटेनमेंट जोन में एंट्री और एग्जिट गेट बंद रहेंगे.

वहीं अब मेट्रो को 30 सेकेंड तक स्टेशन पर रोका जाएगा ताकि सोशल डिस्‍टेंसिंग का ध्यान रखते हुए यात्री चढ़-उतर सकें जबकि बड़े इंटरचेंज स्‍टेशनों पर अब 60 सेकेंड तक मेट्रो रोकी जाएगी. हर ट्रेन में अधिकतम 350 यात्री ही होंगे यानी एक कोच में 50 से 60 लोगों को ही बैठने दिया जाएगा और इस दौरान यात्रियों एक-दूसरे से 1 मीटर की दूसरी बनाए रखना ज़रूरी होगा.

वहीं अनलॉक 4.0 में हरी झंडी मिलने के बाद चेन्नई, कोच्चि, बंगलौर, जयपुर, हैदराबाद, लखनऊ सहित देशभर की बाकी मेट्रो को फिर से शुरू किया जायेगा. हालांकि महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में मेट्रो सेवाओं को फिर से शुरू नहीं करने का फैसला किया है.

ताज़ा वीडियो