कोरोना संक्रमण की चेन ब्रेक करने के लिए भारत में लॉकडाउन ज़रूरी: महामारी एक्सपर्ट एंथनी फाउची

by GoNews Desk 7 months ago Views 1490

'सबसे पहले हमें देखना होगा कि हम पहले किस काम को कर सकते हैं, जिससे लोगों को बेहतर इलाज मिले'

Lockdown required in India to break the chain of c
भारत में कोरोना की दूसरी लहर कहर बन गई है। देशभर में पिछले 24 घंटे में चार लाख से ज़्यादा नए मरीज़ मिले हैं। 22 अप्रैल से देश में लगातार तीन लाख से ज़्यादा मरीज़ मिल रहे थे। इस बीच बाइडन प्रशासन के चीफ मेडिकल ऑफिसर और महामारी एक्सपर्ट एंथनी फाउची ने भारत को लॉकडाउन की सलाह दी है। एंथनी फाउची ने यह बात अंग्रेज़ी अख़बार इंडियन एक्सप्रेस के साथ एक इंटरव्यू में कही है।

अपने इंटरव्यू में डॉ. एंथनी फाउची ने कहा कि भारत में कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए 6 महीने तक के लॉकडाउन की ज़रूरत नहीं है बल्कि कुछ दिनों के लिए लॉकडाउन संक्रमण के चेन को तोड़ सकता है। उन्होंने कहा कि किसी को भी यह नहीं पसंद की देश लॉकाडउन हो लेकिन कुछ सप्ताह के लॉकडाउन से संक्रमण के चेन को ब्रेक किया जा सकता है। डॉ फाउची व्हाइट हाउस के बहुत पुराने मेडिकल एडवाइज़र हैं। उन्होंने सात राष्ट्रपतियों के साथ काम किया है।


इंटरव्यू के दौरान एक सवाल के जवाब में डॉक्टर फाउची ने कहा कि वो आलोचनाओं में नहीं उलझना चाहते हैं। यह पूछे जाने पर कि अगर वो मोदी सरकार के साथ काम कर रहे होते तो वो क्या करते, उन्होंने कहा कि, ‘सबसे पहले तो मैं इस आलोचना में शामिल नहीं होता कि भारत ने इस पूरे मामले को कैसे संभाला। ऐसा करने से यह राजनीतिक मुद्दा बन जाएगा। मैं ऐसा नहीं करना चाहता क्योंकि मैं हेल्थ फील्ड से जुड़ा हूं और मैं कोई राजनेता नहीं हूं।’

उन्होंने वैक्सीन और उसकी प्रभाव को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा कि संक्रमण से बचने के लिए लोगों को वैक्सीन लगाना एक उपाय हो सकता है लेकिन अभी अस्पतालों में इलाज और ऑक्सीज़न की हो रही कमी वैक्सीन से कम नहीं होगी। सबसे पहले हमें देखना होगा कि हम पहले किस काम को कर सकते हैं, जिससे लोगों को बेहतर इलाज मिले। यह बेहद ज़रूरी है, चुकी वैक्सीन का असर होने में समय लगता है और दूसरी डोज़ लेने के बाद ही यह पूर्ण रूप से सफल होता है।

इनके अलावा डॉक्टर फाउची ने ऑक्सीजन, दवाइयों की ठीक ढंग से आपूर्ति, अस्थायी अस्पताल बनाने की भी सलाह दी है, ताकि संक्रमण से लड़ाई में मदद मिल सके।

ताज़ा वीडियो