ads

नौ जगहों से निकलेगी 26 जनवरी की 'किसान गणतंत्र परेड', संयुक्त किसान मोर्चा ने जारी की हिदायतें

by GoNews Desk 2 months ago Views 1701

'याद रखिए, हम दिल्ली को जीतने नहीं जा रहे हैं, हम देश की जनता का दिल जीतने जा रहे हैं।’

'Kisan republic parade' to pass out from nine plac
कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ अभूतपूर्व आंदोलन कर रहे किसान संगठनो ने 26  जनवरी की गणतत्र दिवस परेड के लिए बड़ी तैयारी की है। यह परेड अब पहले घोषित रिंग रोड पर नहीं निकाली जायेगी बल्कि सिंघु, टिकरी, गाज़ीपुर, चिल्ली समेत नौ अलग-अलग जगहों से निकलेगी जहाँ-जहाँ किसानों के धरने चल रहे हैं। ये धरने दिल्ली बार्डर के अलावा हरियाणा और राजस्थान बार्डर पर भी हैं। सभी ट्रैक्टर बिना ट्रॉली के होंगे और परेड के बाद वापस धरना स्थल पहुँचेंगे।

किसानों के इस आंदोलन का नेतृत्व कर रहे ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ ने कहा है कि “हम इतिहास बनाने जा रहे हैं। हम दिल्ली को जीतने नहीं जा रहे हैं, हम देश की जनता का दिल जीतने जा रहे हैं।” इसके साथ ही ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ ने ट्रैक्टर परेड को लेकर कई हिदायतें और हेल्पलाइन नंबर भी जारी किये हैं।

‘किसान गणतंत्र परेड’ के लिए ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ की हिदायतें


संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है  ‘आज तक देश में गणतंत्र दिवस पर इस देश के गण यानी कि हम लोगों ने कभी इस तरह परेड नहीं निकाली है। हमें इस परेड के जरिए देश और दुनिया को अपना दुख दर्द दिखाना है, तीनों किसान विरोधी कानूनों की सच्चाई को बताना है। हमें ध्यान रखना है कि इस ऐतिहासिक परेड में किसी किस्म का धब्बा ना लगने पाए। परेड शांति पूर्वक और बिना किसी वारदात के पूरी हो इसमें हमारी जीत है। याद रखिए, हम दिल्ली को जीतने नहीं जा रहे हैं, हम देश की जनता का दिल जीतने जा रहे हैं।’

इस को ध्यान में रखते हुए ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ ने सर्वसम्मति से परेड के लिए यह हिदायतें बनाई है और एक हेल्पलाइन नंबर 7428384230 जारी किया है।

परेड से पहले की तैयारी

  • परेड में ट्रैक्टर और दूसरी गाड़ी चलेंगी, लेकिन ट्रॉली नहीं जाएगी। जिन ट्रालियों में विशेष झांकी बनी होगी उन्हें छूट दी जा सकती है। पीछे से ट्रॉली की सुरक्षा का इंतजाम करके जायें।
  • अपने साथ 24 घंटे का राशन पानी पैक करके चलें। जाम में फंसने पर ठंड से बचाव का इंतजाम भी रखें।
  • संयुक्त किसान मोर्चा की अपील है कि हर ट्रैक्टर या गाड़ी पर किसान संगठन के झंडे के साथ-साथ राष्ट्रीय झंडा भी लगाया जाए। किसी भी पार्टी का झंडा नहीं लगेगा।
  • अपने साथ किसी भी तरह का हथियार न रखें, लाठी या जेली भी ना रखें। किसी भी भड़काऊ या नेगेटिव नारे वाले बैनर न लगायें।
  • परेड में शामिल होने की सूचना देने के लिए आप 8448385556 पर एक मिस्ड कॉल लगा दें।
परेड के दौरान हिदायतें

  • परेड की शुरुआत किसान नेताओं की गाड़ी से होगी। उनसे पहले कोई ट्रैक्टर या गाड़ी रवाना नहीं होगी। हरे रंग की जैकेट पहने हमारे ट्रैफिक वॉलिंटियर की हर हिदायत को मानें।
  • परेड का रूट तय हो चुका है। उसके निशान लगे होंगे। पुलिस और ट्रैफिक वॉलिंटियर गाइड करेंगे। जो गाड़ी रूट से बाहर जाने की कोशिश करेगी उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
  • संयुक्त किसान मोर्चा का फैसला है कि अगर कोई गाड़ी सड़क पर बिना कारण रुकने या रास्ते में डेरा जमाने कि कोशिश करती है, तो वॉलंटियर उन्हें हटाएंगे। सब गाड़ियां परेड पूरी करके वही वापस पहुंचेंगी जहां से शुरू हुई थी।
  • एक ट्रैक्टर पर ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर समेत पांच लोग सवार होंगे। बोनट, बंपर या छत पर कोई नहीं बैठेगा।
  • सब ट्रैक्टर अपनी लाइन में चलेंगे कोई रेस नहीं लगाएगा। परेड में किसान नेताओं की गाड़ियों से आगे या उनके साथ अपनी गाड़ी लगाने की कोशिश नहीं करेगा।
  • ट्रैक्टर में अपना ऑडियो डेक नहीं बजायें। इससे बाकी लोगों को मोर्चा की ऑडियो से हिदायतें सुनने में दिक्कत होगी।
  • परेड में किसी भी किस्म के नशे की मनाही रहेगी। अगर आपको कोई भी नशा करके ड्राइव करते हुए दिखाई दे तो उसकी सूचना नजदीक के ट्रैफिक वॉलिंटियर को दें।
  • हमें गणतंत्र दिवस की शोभा बढ़ानी है, पब्लिक का दिल जीतना है। इस बात का खास ख्याल रखें कि औरतों से पूरी इज्जत से पेश आएं। पुलिस का सिपाही भी यूनिफॉर्म पहने हुए किसान है, उससे कोई झगड़ा नहीं करना। मीडिया वाले चाहे जिस भी चैनल से हों, उनके साथ किसी तरह की बदतमीजी न हो।
  • कचरा सड़क पर ना फेंके। अपने साथ कचरे के लिए एक बैग अलग से रखें।
इमरजेंसी की हिदायतें

‘संयुक्त किसान मोर्चा’ ने हर किस्म की इमरजेंसी सेवाओं का इंतजाम किया है इस संबंध में जारी हिदायतों में कहा गया कि-

  • किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें। अगर कोई बात चेक करना हो तो ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ की फेसबुक पर जाकर सच्चाई की जांच कर लें।
  • परेड में बीच-बीच में एंबुलेंस रहेंगी, अस्पतालों के साथ इंतजाम किया गया है। कोई मेडिकल इमरजेंसी हो तो हेल्पलाइन नंबर पर फोन करें या नजदीकी वालंटियर को बतायें।
  • ट्रैक्टर या गाड़ी खराब होने की स्थिति में उसे बिल्कुल साइड में लगा दें और वॉलिंटियर से संपर्क करें या हेल्पलाइन पर कॉल करें।
  • ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ का हेल्पलाइन नंबर इस परेड के लिए 24 घंटे खुला रहेगा कुछ भी पूछना हो या बताना हो तो तुरंत फोन करें।
  • अगर कोई वारदात हो तो उसकी खबर पुलिस कंट्रोल रूम को 112 नंबर पर दे सकते हैं।
यहां देखें ट्रैक्टर परेड का मैप

 

ताज़ा वीडियो